IS सरगना बगदादी का नया ऑडियो टेप जारी, मौत के दावे पर उठे सवाल

इस्लामिक स्टेट ने एक ऑडियो टेप जारी कर एक बार फिर लीडर अबू बकर अल-बगदादी की मौत को सवालों के घेरे में ला दिया है. आईएस ने अपने दावे में कहा है कि यह आवाज अबू बकर अल-बगदादी की है. इस ऑडियो में कथि‍त रूप से बगदादी काफिरों से मुकाबला करने की बात कह रहा है. वहीं इस ऑडियो रिकॉर्डिंग की जांच अमेरिका का खुफिया विभाग कर रहा है. हालांकि उसके अनुसार फिलहाल इस ऑडियो पर सत्यता पर कोई सवाल नहीं है, लेकिन यह बगदादी की ही आवाज है इसकी जांच हो रही है.IS सरगना बगदादी का नया ऑडियो टेप जारी, मौत के दावे पर उठे सवाल

बायोमीट्रिक व्यवस्था का कर्मचारियों ने निकाला तोड़, इस तरह से लगा रहे है अटेंडेंस

ऐसे में यह पिछले 10 महीने में जारी हुआ बगदादी का यह पहला टेप है. इसमें उत्तर कोरिया द्वारा जापान और अमेरिका को दी जा रही धमकियों का भी जिक्र है. इसमें बगदादी ने दावा किया कि रूस के सामने अमेरिका कमजोर पड़ रहा है और उसने लड़ने की हिम्मत ही छोड़ दी है. साथ ही इस ऑडियो के जारी होने से रूस और इरान के दावे पर शक गहरा गया है, जिसमें उन्होंने बगदादी के मारे जाने की बात कही थी. ऑडियो में बगदादी को मोसुल में हुई लड़ाई का जिक्र करते सुना गया है. साथ ही सीरिया के हमा में भी लड़ाई की बात कही गई. आपको बता दें कि इन दोनों जगहों से आईएस के आतंकियों को भगाया जा चुका है.

46 मिनट की रिकॉर्डिंग

इस्लामिक स्टेट से जुड़े अल फुरकान न्यूज एजेंसी द्वारा जारी इस ऑडियो टेप की डेट के बारे में बातें साफ नहीं हो पाई है. 46 मिनट की इस रिकॉर्डिंग में बगदादी द्वारा अपने फॉलोवर्स को संबोधित किया जा रहा है. इसमें उत्तर कोरिया द्वारा जापान और अमेरिका को दी जा रही धमकियों का भी जिक्र है.

जिंदा है बगदादी? 

बगदादी के मौत हमेशा से शक के घेरे में रही है. इस ऑडियो से शक और गहरा गया है. जिस तरह बगदादी की ज़िंदगी एक छलावा है, ठीक उसी तरह उसकी मौत भी एक पहेली है.  इस साल सीरिया के स्टेट टेलीविजन ने दावा किया था कि सीरिया के रक्का शहर में 11 जून को हुए हवाई हमले में बगदादी मारा गया है. पिछले 2-3 सालों में 8 से अध‍ि‍क बार बगदादी के मारे जाने की खबर आ चुकी है. जून में ही रूसी सेना ने दावा किया था कि सीरिया में उसके एक हवाई हमले में आईएस प्रमुख बगदादी मारा गया.‍ इससे पहले 18 मार्च 2016 को भी ऐसी कई खबरें आई थी की बगदादी की मौत हो चुकी है. वहीं पिछले साल अमेरिका के नेतृत्व वाले गठबंधन ने कहा था कि वह रूसी हमले में बगदादी के मारे जाने की पुष्टि नहीं कर सकता, उसके पास पुख्ता सबूत नहीं है. इराक में जन्मे 46 साल के बगदादी को 2014 के बाद से सार्वजिनक रूप से कहीं नहीं देखा गया. ऐेसे में कई दावों के बाद भी हर बार 25 मिलियन डॉलर का ये ईनामी खूंखार आतंकी मर कर भी ज़िंदा हो जाता है.

जांच जारी

अमेरिका के खुफिया विभाग के सूत्रों के अनुसार अमेरिका अबू बकर अल बगदादी की उस ऑडियो टेप के बारे में जानता है, वह इसकी जांच कर रहा है. अमेरिका के खुफिया विभाग के अनुसार इसकी प्रमाणिकता पर शक करने का उनके पास कोई ठोस कारण नहीं , लेकिन अब तक इसका सत्यापन नहीं हो पाया है.

You May Also Like

English News