सात दशक बाद दक्षिण कोरिया की राजधानी से अमेरिका ने हटाई सेना

अमेरिका सात दशक बाद दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में अपनी सैन्य मौजूदगी औपचारिक तौर पर खत्म कर रहा है. अमेरिकी सेना शुक्रवार को दक्षिण सियोल में अपने नए मुख्यालय का उद्घाटन कर रही है. भले ही अमेरिका के इस ऐतिहासिक कदम को उत्तर कोरिया के साथ बढ़ती नजदीकी तौर पर देखा जा रहा हो, लेकिन इसकी वजह कुछ और है.अमेरिका सात दशक बाद दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में अपनी सैन्य मौजूदगी औपचारिक तौर पर खत्म कर रहा है. अमेरिकी सेना शुक्रवार को दक्षिण सियोल में अपने नए मुख्यालय का उद्घाटन कर रही है. भले ही अमेरिका के इस ऐतिहासिक कदम को उत्तर कोरिया के साथ बढ़ती नजदीकी तौर पर देखा जा रहा हो, लेकिन इसकी वजह कुछ और है.  इसे पढ़ें: नॉर्थ कोरिया की वजह से टली भारत-अमेरिका टू प्लस टू वार्ता!  दरअसल अमेरिकी सेना का मुख्यालय सियोल के प्रमुख रियल स्टेट क्षेत्र पर काबिज था. अमेरिका की इस सैन्य मौजूदगी को लेकर दक्षिण कोरिया के लागों में लंबे समय से असंतोष था. जिसे लेकर अमेरिका और सियोल के बीच दशकों से चर्चा चल रही थी. लिहाजा अमेरिका ने राजधानी सियोल से 70 किलोमीटर दूर कैम्प हम्फ्रे में अपना नया सैन्य मुख्यालय बनाया है. अमेरिका का ये सैन्य मुख्यालय कोरियाई प्रायद्वीप के तनाव वाले क्षेत्र से दूर भी है.  दूसरे विश्व युद्ध के बाद जापान को सबक सिखाने लिए सियोल में अमेरिकी सेना का मुख्यालय बनाया गया था.  आपको बता दे कि दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में अमेरिकी सेना 1945 से मौजूद है. सियोल में अमेरिकी सेना की मौजूदगी उत्तर कोरिया के आक्रमणकारी रवैये के निवारण के तौर पर देखा जाता रहा है.  दक्षिण कोरिया में अमेरिका के 28,500 सैनिक तैनात हैं.गुरुवार को अमेरिका के रक्षा मंत्री  मैटिस ने दक्षिण कोरिया के मंत्री सोंग यंग-मू से मुलाकात की.नों नेताओं के बीच हुई मुलाकात के दौरान मैटिस ने कहा कि दक्षिण कोरिया के प्रति अमेरिकी प्रतिबद्धता में कोई कमी नहीं आएगी.

दरअसल अमेरिकी सेना का मुख्यालय सियोल के प्रमुख रियल स्टेट क्षेत्र पर काबिज था. अमेरिका की इस सैन्य मौजूदगी को लेकर दक्षिण कोरिया के लागों में लंबे समय से असंतोष था. जिसे लेकर अमेरिका और सियोल के बीच दशकों से चर्चा चल रही थी. लिहाजा अमेरिका ने राजधानी सियोल से 70 किलोमीटर दूर कैम्प हम्फ्रे में अपना नया सैन्य मुख्यालय बनाया है. अमेरिका का ये सैन्य मुख्यालय कोरियाई प्रायद्वीप के तनाव वाले क्षेत्र से दूर भी है.

दूसरे विश्व युद्ध के बाद जापान को सबक सिखाने लिए सियोल में अमेरिकी सेना का मुख्यालय बनाया गया था.  आपको बता दे कि दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में अमेरिकी सेना 1945 से मौजूद है. सियोल में अमेरिकी सेना की मौजूदगी उत्तर कोरिया के आक्रमणकारी रवैये के निवारण के तौर पर देखा जाता रहा है.

दक्षिण कोरिया में अमेरिका के 28,500 सैनिक तैनात हैं.गुरुवार को अमेरिका के रक्षा मंत्री  मैटिस ने दक्षिण कोरिया के मंत्री सोंग यंग-मू से मुलाकात की.नों नेताओं के बीच हुई मुलाकात के दौरान मैटिस ने कहा कि दक्षिण कोरिया के प्रति अमेरिकी प्रतिबद्धता में कोई कमी नहीं आएगी.

You May Also Like

English News