#सावधान: छठ पूजा से ठीक पहले बदल रही है सूर्य की स्थ‍िति, जानिए क्या होगी हलचल

सूर्य की कृपा पाने की चाह भला किसके मन में नहीं होगी, जिसकी गति से जिंदगी में नया सवेरा होता है. शक्ति के उस पुंज की कृपा भला कौन नहीं चाहेगा. सूर्य की अराधना का महापर्व छठ 24 अक्टूबर से शुरू होने जा रहा है.#सावधान: छठ पूजा से ठीक पहले बदल रही है सूर्य की स्थ‍िति, जानिए क्या होगी हलचल22 अक्टूबर 2017 रविवार का राशिफल: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन…

कहते हैं जिसे सूर्य का आशीर्वाद मिल जाए, उसके जीवन का अंधकार मिट जाता है. सारे कष्ट दूर हो जाते हैं. रोगों का नाश हो जाता है.

शत्रुओं का भय मिट जाता है और मान-सम्मान बढ़ता है. छठ महापर्व से ठीक पहले ही सूर्य ने अपना स्थान परिवर्तन कर तुला में प्रवेश कर लिया है. इस राशि में सूर्य की स्थिति सबसे कमजोर होती है.

इस बार सूर्य के साथ बुध और बृहस्पति भी हैं. सूर्य, मंगल और शनि के बीच विद्यमान हैं. इसमें सूर्य नीच राशि में हैं और पाप ग्रहों के निकट भी हैं. इस समय हर राशि के व्यक्ति को कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए.

राश‍ि अनुसार जानिये आप क्या होगा असर और क्या करें उपाय…

मेष : स्वास्थ्य पर ध्यान दें. क्रोध करके रिश्तों को न बिगाड़ें.

वृष : आंखों और हड्डियों की समस्या से बचें. निर्णय लेने में सावधानी रखें.

मिथुन : करियर में सफलता मिल सकती है. संतान की सेहत पर ध्यान दें.

कर्क : दाम्पत्य जीवन और करियर में समस्या आ सकती है. लम्बी यात्रा करने से बचें.

सिंह : पेट और यूरिन की समस्या हो सकती है. आर्थिक नुक्सान और विवादों से बचें.

कन्या : पिता की सेहत बिगड़ सकती है. काम के बोझ से परेशानी हो सकते हैं.

तुला: सहयोगियों से सम्बन्ध खराब हो सकते हैं. आंखों की समस्या परेशान कर सकती है. 

वृश्चिक: करियर में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. क्रोध और वाणी पर नियंत्रण रखें.

धनु: पैसा गिर सकता है या चोरी हो सकता है. उच्चाधिकारियों के साथ सम्बन्ध खराब हो सकते हैं.

मकर: नौकरी और कारोबार में नुकसान से बचें. आकस्मिक दुर्घटना घट सकती है.

कुम्भ: दाम्पत्य जीवन और प्रेम में समस्या हो सकती है. संतान के लिए प्रयत्न न करें.

मीन: चोट चपेट और हड्डियों की समस्या से बचें. नौकरी से सम्बन्धी कोई भी निर्णय न लें.

इस समय किन उपायों से सूर्य की कृपा मिलेगी ?

– नित्य प्रातः सूर्य को जल अर्पित करें

– सूर्य के मन्त्र का जप करें

– रोज सायं तुलसी के नीचे या खुले आकाश के नीचे दीपदान करें

– ज्यादा समस्या हो तो रविवार को गुड़ का दान करें

You May Also Like

English News