सावधान: मदद के बहाने एटीएम कार्ड बदला, खाते से निकाले 5.07 लाख रुपए

वृद्ध कांग्रेस नेता की मदद करने के बहाने तीन युवक एटीएम कार्ड बदलकर ले गए। इसके बाद युवकों ने कांग्रेस नेता के एटीएम का उपयोग कर खाते से 5.07 लाख रुपए निकाल लिए। घटना 27 जुलाई दोपहर 3 बजे गुप्ता कोल डिपो जनकगंज की है।सावधान: मदद के बहाने एटीएम कार्ड बदला, खाते से निकाले 5.07 लाख रुपएअभी-अभी: भाजपा की हुई एक और जीत तीन पूर्व एमएलसी ने ज्वाइन की पार्टी

घटना का पता उस समय लगा जब 28 जुलाई की शाम उनके मोबाइल पर मैसेज आए। कांग्रेस नेता ने अपने साथी कांग्रेस के पूर्व विधायक को सारी बात बताई और उनके साथ एसपी ग्वालियर के पास पहुंचे। शनिवार को कांग्रेस नेता की शिकायत के बाद पुलिस ने जनकगंज थाने में मामला दर्ज कर लिया है।

जनकगंज थाना क्षेत्र स्थित नई सड़क निवासी 70 वर्षीय मधुकर बांगड़ पुत्र शंकर राव कांग्रेस नेता हैं। वह पूर्व विधायक रमेशचन्द्र अग्रवाल के विधायक प्रतिनिधि भी रह चुके हैं। उनका स्टेट बैंक ऑफ इंडिया मोतीमहल में खाता है। 27 जुलाई दोपहर 3 बजे मधुकर ने पहले नई सड़क चम्पाबाग के सामने एटीएम से 6 हजार रुपए निकाले।

कैश निकालने के बाद वे कुछ आगे ही चले थे तो उन्हें याद आया कि उन्होंने बैलेंस तो चेक किया ही नहीं। तभी गुप्ता कोल डिपो के सामने उन्हें स्टेट बैंक का एटीएम दिखा। यहां वह बैलेंस चेक करने पहुंचे। पहले से ही एक युवक अंदर खड़ा था। मधुकर के अंदर पहुंचते ही युवक ने कहा उसका कैश नहीं निकल रहा है तो पहले आप चेक कर लो। इसी समय दो और युवक आकर खड़े हो गए।

जैसे ही उन्होंने बैलेंस चेक करने एटीएम लगाकर पासवर्ड डायल किया तो डिटेल नहीं आई। इसके बाद एक ने मदद करने के बहाने एटीएम लिया और बदल दिया। इसके बाद कांग्रेस नेता वहां से एटीएम कार्ड बिना देखे जेब में रखकर चले आए। 28 जुलाई शाम को धड़ाधड़ मैसेज आए। जिसमें पता लगा कि खाते से 5.07 लाख रुपए निकल गए हैं। जिसके बाद वह एसपी ग्वालियर डॉ. आशीष से मिले और सूचना दी। जिसके बाद शनिवार शाम जनकगंज थाने में ठगी का मामला दर्ज हुआ है।

एक दिन में 40 हजार की लिमिट कैसे निकले 5.07 लाख

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अकाउंट से एटीएम के जरिए एक दिन में 40 हजार रुपए निकालने की लिमिट है। इसके बाद खाते से 5.07 लाख कैसे निकल गए। जब कांग्रेस कैश निकलने के मैसेज आने के बाद बैंक पहुंचे और शिकायत की तो पूरी जानकारी मिली। 80 हजार रुपए ठगों ने मुरैना में एसबीआई से निकाले।

इसके बाद हरियाणा पानीपत पहंुचे। यहां स्टेट बैंक में जाकर एक-एक लाख रुपए तीन बार 1.27 चौथी बार किश्त मंे निकाले। स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को सुविधा देने ग्रीन कार्ड मशीन बैंक के अंदर लगाई हुई है। एसबीआई का कार्ड धारक इस मशीन के जरिए बैंक के अंदर जाकर अनलिमिट कैश निकाल सकता है। ठगांे के पास एटीएम कार्ड और पासवर्ड था। पानीपत में इसी ग्रीन कार्ड एटीएम मशीन के जरिए उन्होंने कैश निकाला।

बैंक प्रबंधन को बताया मां बीमार है 

जब पानीपत में ठग कैश निकाल रहे थे तो एक-एक इतने बड़े ट्रांजेक्शन में वहां के बैंक प्रबंधन ने कार्ड का उपयोग कर रहे युवक को रोककर पूछताछ की थी कि कार्ड ग्वालियर का है और आप इतना कैश क्यों निकाल रहे हो। इस पर ठग ने बताया कि पिता का कार्ड है और मां गंभीर रूप से बीमार है। उनका यहां इलाज चल रहा है। पिता ने कहा है जितना कैश निकल जाए निकाल लो। यह बात स्थानीय बैंक प्रबंधन ने जब पानीपत में संपर्क किया तो पता लगी।

खाता ब्लॉक कराया तो बचे दो लाख रुपए

कांग्रेस नेता के खाते में 7 लाख रुपए थे। जब उनके पास मैसेज आए तो खाते से 5.07 लाख रुपए निकल चुके थे। जिसके बाद उन्होंने तत्काल बैंक पहुंचकर खाता बंद कराया। जिस कारण दो लाख रुपए बच गए हैं।

मामला दर्ज कराने लगाई एप्रोच

जब पीड़ित ने मामला दर्ज कराने कहा तो पुलिस ने आवेदन देने को कहा। इसके बाद पीड़ित ने अपने परिचित पूर्व कांग्रेस विधायक रमेशचन्द्र अग्रवाल को यह बात बताई। साथ ही ग्वालियर में एसपी रह चुके व अभी आईजी मकरंद देउस्कर जो उनके रिश्तेदार हैं उन्हें फोन लगाया। साथ ही लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से भी इस संबंध में बात की। उनके पीए ने इस संबंध में ग्वालियर पुलिस से बात की। जिस पर पुलिस बिना देर किए मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह रखें सावधानी

– एटीएम में कार्ड का उपयोग करते समय सावधान रहें

-जब आप एटीएम यूज कर रहे हों तो किसी को अंदर न आने दें

– साथ ही पासवर्ड हमेशा छुपाकर ही टाइप करें

– हमेशा सिक्युरिटी गार्ड वाले एटीएम पर ही कार्ड यूज करें

– एटीएम में कभी किसी की मदद नहीं ले

– कोई परेशानी हो तो मशीन के ऊपर लिखे कस्टूमर केयर नंबर पर बात करें।

You May Also Like

English News