सिंधिया को BJP का ज़ोर का झटका धीरे से लगा…

मध्य प्रदेश में मुंगावली और कोलारस विधानसभा उपचुनाव के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा रहे कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके ही इलाके में भाजपा ने ज़ोर का झटका धीरे से दे ही दिया. दरअसल हुआ यूँ कि सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के अशोक नगर से सांसद प्रतिनिधि केपी यादव ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में प्रवेश ले लिया. यही नहीं केपी यादव के साथ उनकी पत्नी अनुराधा यादव ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली.सिंधिया को BJP का ज़ोर का झटका धीरे से लगा...

इस बारे में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार केपी यादव और अनुराधा यादव दोनों कल गुरुवार को आधिकारिक तौर पर शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में भाजपा में शामिल होंगे.उपचुनाव से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया बनाम शिवराज सिंह चौहान के इस मुकाबले में भाजपा ने कांग्रेस को करारा झटका देकर उसे बहुत नुकसान पहुँचाया है. राज्य में दो उप चुनाव हार चुकी भाजपा इस बार किसी भी कीमत पर यह दोनों उप चुनाव जीतना चाहती है.इसलिए शह और मात का हर खेल, खेल रही है.केपी यादव का भाजपा में प्रवेश उसीकी बानगी है.

उधर दूसरी तरफ शिवपुरी के कोलारस उपचुनाव में सिंधिया बनाम शिवराज के घमासान में भाजपा प्रत्याशी देवेंद्र जैन ने एक भावनात्मक कार्ड खेलते हुए कहा है कि उन्हें शिवराज कैबिनेट में मंत्री और सिंधिया घराने से जुड़ी यशोधराराजे सिंधिया के आशीर्वाद से टिकट मिला है. देवेंद्र जैन ने कहा कि चुनाव में उनकी लड़ाई कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र यादव की जगह गुना से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से है. सिंधिया घराने से अपने नजदीकी रिश्तों का खुलासा करते हुए देवेंद्र जैन ने कहा कि 1993 में राजमाता विजयराजे सिंधिया के कारण ही चुनाव में पहली बार टिकट मिला था. जाहिर है ऐसे बयान सिंधिया के दिल पर चोट करेंगे.

You May Also Like

English News