सिंधु विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में, पदक हुआ पक्का

भारत की पीवी सिंधु ने शुक्रवार को जबर्दस्त प्रदर्शन कर विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। इसी के साथ उन्होंने पदक पक्का कर लिया। भारत की साइना नेहवाल और बी साई प्रणीत क्वार्टर फाइनल में हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गए।भारत की पीवी सिंधु ने शुक्रवार को जबर्दस्त प्रदर्शन कर विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। इसी के साथ उन्होंने पदक पक्का कर लिया। भारत की साइना नेहवाल और बी साई प्रणीत क्वार्टर फाइनल में हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गए।  रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता सिंधु ने गत विश्व चैंपियन जापानी की नोजोमी ओकुहारा को हराया। सिंधु ने यह मुकाबला सीधे गेमों में 21-17, 21-19 से जीता। सिंधु ने पहला गेम 25 मिनट में जीता। अब उनका मुकाबला जापान की अकाने यामागुची से होगा।  सिंधु ने सेमीफाइनल में पहुंचकर कम से कम कांस्य पदक पर तो कब्जा तय कर लिया है। सिंधु का यह विश्व चैंपियनशिप में चौथा पदक होगा और वे यह उपलब्धि हासिल करने वाली भारत की पहली शटलर होंगी। वे इससे पहले 2013 में ग्वांगझू में और 2014 में कोपनहेगन में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। 2017 में ग्लासगो में उन्होंने रजत पदक जीता था।  भारत की साइना नेहवाल को क्वार्टर फाइनल में ओलिंपिक चैंपियन केरोलिना मारिन के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा। मारिन ने यह मुकाबला 21-6, 21-11 से जीतकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब उनका मुकाबला ही बिंगजियाओ से होगा, जिन्होंने एक अन्य क्वार्टर फाइनल में दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी ताई जू ‍यिंग को 21-18, 7—21, 21-13 से हराया।   विराट के पास टीम इंडिया का यह शर्मनाक रिकॉर्ड बदलने का मौका यह भी पढ़ें  पुरुष वर्ग में भारत के बी साई प्रणीत की चुनौती भी अंतिम आठ में समाप्त हो गई। जापान के केंटो मोमोटा ने प्रणीत को 38 मिनटों में 21-12, 21-12 से हरा दिया।

रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता सिंधु ने गत विश्व चैंपियन जापानी की नोजोमी ओकुहारा को हराया। सिंधु ने यह मुकाबला सीधे गेमों में 21-17, 21-19 से जीता। सिंधु ने पहला गेम 25 मिनट में जीता। अब उनका मुकाबला जापान की अकाने यामागुची से होगा।

सिंधु ने सेमीफाइनल में पहुंचकर कम से कम कांस्य पदक पर तो कब्जा तय कर लिया है। सिंधु का यह विश्व चैंपियनशिप में चौथा पदक होगा और वे यह उपलब्धि हासिल करने वाली भारत की पहली शटलर होंगी। वे इससे पहले 2013 में ग्वांगझू में और 2014 में कोपनहेगन में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। 2017 में ग्लासगो में उन्होंने रजत पदक जीता था।

भारत की साइना नेहवाल को क्वार्टर फाइनल में ओलिंपिक चैंपियन केरोलिना मारिन के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा। मारिन ने यह मुकाबला 21-6, 21-11 से जीतकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब उनका मुकाबला ही बिंगजियाओ से होगा, जिन्होंने एक अन्य क्वार्टर फाइनल में दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी ताई जू ‍यिंग को 21-18, 7—21, 21-13 से हराया।

पुरुष वर्ग में भारत के बी साई प्रणीत की चुनौती भी अंतिम आठ में समाप्त हो गई। जापान के केंटो मोमोटा ने प्रणीत को 38 मिनटों में 21-12, 21-12 से हरा दिया।

You May Also Like

English News