‘सिंधु समझौते’ पर चीन को लगा बड़ा झटका, पाकिस्तान ने ही कर दिया किनारे

चीन और पाकिस्तान की दोस्ती के बारे में सारी दुनिया जानती है लेकिन इस बार पाक ने ऐसा काम किया है, जिससे उसका दोस्त चीन खफा हो सकता है। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने चीन को बड़ा झटका दिया है। वैसे तो दरअसल, चीन को पाकिस्तान के कोहिस्तान जिले में सिंधु बांध पर हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट (डासू) को बनाने का जिम्मा मिला था। लेकिन पाक कोर्ट ने चीन की कंपनी को ये प्रोजेक्ट देने से इनकार कर दिया है।

‘सिंधु समझौते’ पर चीन को लगा बड़ा झटका, पाकिस्तान ने ही कर दिया किनारे

डासू प्रोजेक्ट को वर्ल्ड बैंक की मदद से बनाया जा रहा है। 4,320 मेगावॉट के इस प्रोजेक्ट बनाने की जिम्मेदारी कॉरपोरेशन ऑफ चाइना लिमिटेड को मिली थी। लेकिन बाद में लाहौर हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगा दी थी, जिसके बाद पीसीसीसीएल ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया।

भारत का भरा खजाना दुनिया के टॉप 3 अमीर देशों की लिस्ट में होने जा रहा शामिल

अब सुप्रीम कोर्ट ने भी कंपनी की दलील को खारिज कर दिया है। चीफ जस्टिस अनवर जहीर जमाली ने कंपनी की फैसले को सुरक्षित कर लिया है। पीसीसीसीएल के वकील सलमान असलम भट्ट ने कोर्ट में कहा कि वॉटर एंड पावर डेवलेपमेंट अथॉरिटी (वापडा) कंपनी से इस प्रोजेक्ट को छीनती है तो ये वर्ल्ड बैंक के बनाए कानूनों का उल्लंघन होगा। और वापडा ऐसा नहीं कर सकता।

सलमान ने जज को याद दिलाते हुए कहा कि वापडा ने 2004 में पावर प्रोजेक्ट के लिए वर्ल्ड बैंक से करीब 600 मिलियन डॉलर का फंड लिया था। इसलिए इसको बैंक के बनाए कानूनों का पालन करना होगा वरना पाकिस्तान को भविष्य में इसका खामियाजा उठाना होगा।

 

You May Also Like

English News