सिद्धार्थनाथ सिंह ने राममंदिर मुद्दे पर की चर्चा, दिया ये बड़ा बयान…

मेरठ: उत्तर-प्रदेश के चिकित्सा मंत्री और मेरठ के जिला प्रभारी सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि राममंदिर हमारी-आपकी और पूरे देश की आस्था का प्रश्न है और अगर राममंदिर अयोध्या में नहीं बनेगा तो क्या ईराक या सऊदी अरब में बनेगा? सिद्धार्थनाथ सिंह शनिवार को मेरठ में एनएच-58 पर एक कांवड़ शिविर का उद्घाटन करने पहुंचे थे.

राममंदिर के लिए कांवड़ से निकला सवाल

विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने मेरठ के औघड़नाथ महादेव मंदिर से कल (03 अगस्त) से अयोध्या में राममंदिर निर्माण की मनोकामना के साथ कांवड़यात्रा शुरू की है. पत्रकारों के यह पूछे जाने पर कि चुनाव से ठीक पहले राममंदिर का मुद्दा उठा है, सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि राममंदिर निर्माण की मनोकामना के लिए महादेव को कांवड़ चढ़ाना राजनीति नहीं, आस्था और श्रद्धा है. अगर इसे विरोधी बोतल से बाहर आया जिन्न कहते है तो ऐसा जिन्न बार-बार बाहर आना चाहिए. यह पूछे जाने पर कि मंदिर का निर्माण कब शुरू होगा, सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि इसका निर्णय देश का सुप्रीम कोर्ट करेगा जहां इस मसले की सुनवाई चल रही है.

घुसपैठियों के साथ खड़े लोग देश को नहीं जानते

आसाम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजनशिप के मुद्दे पर एक सवाल के जबाब में सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि समुद्र मंथन से निकले विष को शिवजी ने पिया था. एनआरसी के मुद्दे पर जो लोग बांग्लादेशी घुसपैठियों के साथ खड़े हैं, वह भी देश में जहर घोल रहे हैं. भारतीय और घुसपैठियों में फर्क होता है. बांग्लादेशी घुसपैठियों की वकालत करने वाले ऐसे लोगों के पाप कांवड़यात्रा धुल देगी. यह पूछे जाने पर कि वह कौन है, सिद्धार्थनाथ सिंह सिर्फ इतना बोले कि ये वह लोग है जो देश को नहीं समझ पा रहे हैं.

कांवड़ उत्सव है, योगी जी ने इसलिए डीजे बजवाया

पिछली सरकारों के दौरान कांवड़यात्रा में डीजे पर रोक को लेकर कटाक्ष करते हुए सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि कांवड़ त्यौहार है, उत्सव है. खुशी के पर्व में गाना-बजाना जरूरी है. इसलिए प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीजे से रोक हटाई है. बिना डीजे के पर्व नहीं मना करते. योगी जी प्रदेश की जनता को खुशी के साथ पर्व मनाते देखना चाहते हैं.

महागठबंधन नहीं, प्रधानमंत्री की कुर्सी का दंगल है

2019 लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी, बीएसपी और कांग्रेस के गठबंधन पर पूछे गए सवाल के जबाब में सिद्धार्थनाथ सिंह ने महागठबंधन को महादंगल-वन्दन बताया. सिद्धार्थनाथ ने कहा कि पहले इन दलों के बीच यह लड़ाई होगी कि प्रधानमंत्री कौन बनेगा? राहुल गांधी, अखिलेश यादव, मायावती, ममता बनर्जी और चन्द्रबाबू नायडू के बीच यह दंगल होगा. इसलिए महागठबंधन की नहीं, महादंगल की बात कीजिए.

You May Also Like

English News