सिब्बल ने पूछा- PM कितनी बार जाते हैं मंदिर, वो सिर्फ हिंदुत्व का दिखावा करते हैं

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार करते हुए पूछा है कि प्रधानमंत्री कितनी बार मंदिर जाते हैं। क्या वो जानते हैं हिंदुत्व को समझते हैं, मैं कहता हूं कि नहीं वो नहीं समझते। उन्होंने हिंदू धर्म को छोड़ दिया है।सिब्बल ने पूछा- PM कितनी बार जाते हैं मंदिर, वो सिर्फ हिंदुत्व का दिखावा करते हैंदुनियाभर में छाया ‘अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा: PM मोदी

सिब्बल ने कहा कि वो सिर्फ हिंदू धर्म  का दिखावा करते हैं और उनके इस हिंदुत्व से कोई लेना-देना नहीं है। पीएम असली हिंदू नही हैं। सिब्बल ने कहा कि असली हिंदू वहीं है जो सभी भारतीय चाहें वो हिंदू हो या मुस्लमान सभी को अपना भाई बहन और मां मानें वहीं असली हिंदू है। 

बता दें कि बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी गुजरात चुनाव में एक चुनावी रैली को संबोंधित  करते हुए कहा था कि राहुल गांधी आज सोमनाथ मंदिर दर्शन के लिए गए हैं लेकिन मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि  उनके परिवार के लोग जब ये मंदिर बन रहा था तो उससे खुश नहीं थे। पीएम ने कहा था कि अगर सरदार पटेल नहीं होते तो सोमनाथ मंदिर कभी नहीं बन पाता।

मोदी ने पुरानी बातें याद दिलाते हुए कहा कि आज कुछ लोग सोमनाथ मंदिर को याद कर रहे हैं, आप इतिहास भूल गए हैं क्या? आपके परिवार के लोग, हमारे पहले प्रधानमंत्री मंदिर बनने के प्लान से खुश नहीं थे।

चिदंबरम का भी पीएम मोदी पर निशाना
 जीएसटी के लिए अधिकतम सीमा 18 फीसदी तय किए जाने संबंधी कांग्रेस की मांग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई आलोचना पर पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने बृहस्पतिवार को पलटवार किया और कहा, ‘क्या समान विचार रखने वाले सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) भी ‘स्टूपिड’ हैं।’ 
 
चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, ‘अगर कर की दर को अधिकतम 18 फीसदी तय करने की दलील ‘ग्रैंड स्टूपिड थॉट’ (बहुत ही बकवास विचार) है, तो सीईए डॉ. अरविंद सुब्रमणयम और अन्य कई अर्थशास्त्री भी ‘स्टूपिड’ हैं। क्या प्रधानमंत्री ऐसा कह रहे हैं?’ 

चिदंबरम ने मोदी से प्रश्न किए, ‘क्या प्रधानमंत्री ने सीईए की राजस्व निरपेक्ष रिपोर्ट पढ़ी है? क्या सीईए ने आरएनआर को 15-15.5 फीसदी करने की सलाह नहीं दी? सामान्य जीएसटी दर 15 फीसदी क्यों नहीं हो सकती और लग्जरी वस्तुओं के लिए आरएनआर प्लस दर 18 फीसदी क्यों नहीं हो सकती?’

गुजरात में बुधवार को रैलियों को संबोधित करने के दौरान मोदी ने जीएसटी पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर निशाना साधते हुए कहा था कि हाल में एक ‘अर्थशास्त्री’ उभरे हैं, जो जीएसटी की दर 18 फीसदी पर सीमित करने का सुझाव देकर ‘ग्रैंड स्टूपिड थॉट’ जाहिर कर रहे हैं।

You May Also Like

English News