सिर्फ 0.1% के पास दुनिया की 13% दौलत, 36 साल में बढ़ी अमीर गरीब के बीच खाई

महज 0.1 फीसदी लोगों के पास दुनिया की कुल दौलत का 13 फीसदी हिस्सा है. इसके अलावा पिछले 36 सालों के भीतर जो नई संपत‍ियां बनीं, उनमें से भी 27 फीसदी पर सिर्फ  1 फीसदी अमीरों का ही अध‍िकार है.सिर्फ 0.1% के पास दुनिया की 13% दौलत, 36 साल में बढ़ी अमीर गरीब के बीच खाईबैंक में रखा आम लोगों का पैसा रहे सुरक्ष‍ित, इसलिए FRDI में बदलाव जरूरी : ASSOCHAM

बाकी  73 फीसदी संपति दुनिया की 99 फीसदी आबादी के बीच बंटी है. अर्थशास्त्री थोमस पिकेटी ने ‘विश्व असमानता रिपोर्ट’ में यह बात कही है.

थॉमस पिकेटी ने 1980 से 2016 के बीच आंकड़ें जुटाकर यह रिपोर्ट तैयार की है. इस रिपोर्ट को तैयार करने में फ्रांस के अर्थशास्त्री के अलावा अन्य 100 लोगों ने भाग लिया.

रिपोर्ट में कहा है कि 1980 से 2016 के बीच  0.01 फीसदी लोगों की दौलत में जो इजाफा हुआ है, वह दुनिया की 50 फीसदी की गरीब आबादी की पूरी दौलत के बराबर है.

इस रिपोर्ट में ये भी सामने आया है कि दुनिया के सिर्फ 0.001 फीसदी लोगों के पास ही 1980 से 2016 तक बनी नई संपति का 4 फीसदी हिस्सा है. इसका मतलब है कि सिर्फ 75 हजार लोगों के पास ही पिछले 36 साल के दौरान बनी नई  संपत‍ि का 4 फीसदी है. 

 रिपोर्ट के मुताबिक 1980 के बाद दुनिया की ग्रोथ के बड़े हिस्से पर 0.1 फीसदी लोगों का ही अध‍िकार रहा है. इस दायरे में आने वाले इन लोगों की कुल संख्या 70 लाख है.

इसमें बताया गया है कि ग्लोबल बॉटम और टॉप 1 फीसदी के बीच की जनसंख्या की आय न के बराबर बढ़ी है.  कहा गया है कि अमेरिका उन देशों में शामिल है, जहां सबसे ज्यादा असमानता है.

रिपोर्ट के अनुसार 1980 में देश की पूरी दौलत का सिर्फ 22 फीसदी देश के 1 फीसदी अमीरों के पास था. लेक‍िन 2014 तक यह आंकड़ा बढ़कर 39 फीसदी हो गया. 

रिसर्च में सामने आया कि असमानता बढ़ने की वजह यह है कि 0.1 फीसदी में टॉप अमीरों में आने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. 

You May Also Like

English News