सीएचसी व सिविल अस्पतालों में भी मिलेगा आयुष्मान भारत योजना में इलाज

आयुष्मान भारत योजना के तहत इलाज के लिए अब मरीजों को ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा। उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) व सिविल अस्पतालों में भी इलाज मिल सकेगा। इन अस्पतालों से अनुबंध किया जा रहा है। जिला अस्पताल, सीएचसी व सिविल अस्पताल मिलाकर करीब 200 अस्पताल आयुष्मान भारत योजना के दायरे में आएंगे।

शुरू में जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेजों को ही योजना में शामिल करने के लिए अनुबंध किया जा रहा था। ऐसे में छोटी तकलीफ होने पर भी मरीजों को इलाज के लिए काफी दूर जाना पड़ता है। लिहाजा ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि सीएचसी और सिविल अस्पताल में इलाज मिल सके।
भोपाल में कोलार, गांधी नगर व बैरसिया सीएचसी, बैरागढ़ सिविल अस्पताल को अनुबंधित किया गया है। काटजू अस्पताल तैयार होने के बाद इसे भी शामिल किया जाएगा। इस तरह भोपाल में मेडिकल कॉलेज समेत सात सरकारी अस्पताल योजना में शामिल हो जाएंगे।

बता दें कि इन अस्पतालों में मेडिसिन, सर्जरी, गायनी, शिशु रोग व एनेस्थीसिया के विशेषज्ञ व मेडिकल ऑफीसर होते हैं। 50 से 100 बिस्तर के अस्पतालों में पांच मेडिकल ऑफीसर व दांत के डॉक्टर भी रहते हैं। लिहाजा, ज्यादातर बीमारियों का इलाज यहां हो जाएगा।

You May Also Like

English News