सीएम अखिलेश ने पीएम मोदी को दी विकास के मुद्दे पर बहस की चुनौती

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सूबे के विकास के मुद्दे पर सीधी बहस की चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा के लोग चुनाव का मैदान हार चुके हैं, इसीलिए उनकी भाषा बदल गई है। अखिलेश ने तुलसीपुर सीट से सपा प्रत्याशी मसूद खान के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में कहा कि प्रधानमंत्री अगर बहस करना चाहते हैं तो इधर-उधर की बात ना करें। हम तो खुला कहते हैं कि अगर प्रधानमंत्री विकास कार्यों में हमसे बहस करना चाहें तो हम तैयार हैं। हम पूछते हैं कि आपने उत्तर प्रदेश में क्या काम किया, हम भी बताएंगे कि हमने क्या किया। उन्होंने कहा कि खिसियाता वही है जो लड़ाई हार जाता है। पुरानी बातें वहीं करता है जो पिछड़ जाता है। प्रधानमंत्री जी हमारे उत्तर प्रदेश को मत उलझाइए। अगर आप उत्तर प्रदेश के गोद लिए हुए बेटे हैं, तो हम तो उत्तर प्रदेश के ही हैं, हमें कौन गोद लेगा।
>भुखमरी से कहीं 14 लाख बच्चों की न हो जाए मौत ! पढि़ए यह रिपोर्टफेसबुक से बनी गर्लफ्रेंड को फ्लैट पर बुलाकर संबंध बना रहा था! और तभी….

भाजपा वाले मैदान में हार चुके, इसीलिए बदल गई उनकी भाषा
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री कितने बड़े पद पर हैं, और वह झगड़ा हमसे कर रहे हैं। भाजपा वाले लोग मैदान में हार चुके हैं, इसीलिए उनकी भाषा बदल गई है, वह चुनाव को ना जाने किस रास्ते पर ले जाना चाहते हैं। हम तो उसे सिर्फ विकास के रास्ते पर जाना चाहते हैं। अखिलेश ने कहा कि हमने तो क से कबूतर पढ़ा है। आप हमें क्या पढ़ा रहे हैं। इस बार उत्तर प्रदेश की जनता आपका कबूतर उड़ा देगी। उन्होंने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा वाले बताएं कि पहले तो आप लैपटाप को झुनझुना बोलते थे, अब आपने उसे अपने घोषणापत्र में क्यों शामिल कर दिया। भाजपा कहती है कि हमने भेदभाव से लैपटाप बांटा। आप किसी से भी पूछ लीजिए कि मेधावी बच्चों को लैपटाप मिला कि नहीं। भाजपा से ज्यादा गुमराह करने वाला कोई नहीं है।

जब तक बड़ा दिल नहीं होगा,मजबूत दोस्ती नहीं हो सकती
अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री दुनिया के इतने देशों में घूम आए, लेकिन वह देश के लिए कुछ लाए हैं तो बताआे। हमने पुलिस की यूपी-100 सेवा को अमेरिका की तरह बनाने का प्रयास किया है। अब आपसे कोई पुलिसकर्मी गलत व्यवहार नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को पता ही नहीं है कि पुलिस 100 नम्बर से भी चल रही है। हम स्वीकार करते हैं कि कुछ गड़बडिय़ां हैं, मगर 100 नम्बर उन्हें सुधारने वाला भी है। आने वाले समय में पुलिस की जो बुराई है, उसे भी 100 नम्बर से ठीक करेंगे। मुख्यमंत्री ने सपा-कांग्रेस गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताने की अपील करते हुए कहा कि हम पर आरोप लगता है कि हमने कांग्रेस को सीटें ज्यादा दे दीं। हम मजबूत दोस्ती करना चाहते हैं। जब तक बड़ा दिल नहीं होगा, तब तक मजबूत दोस्ती नहीं हो सकती। हम जनता से अपील करेंगे कि आप भी चुनाव में बड़े दिल से हमसे दोस्ती निभाइएगा।

दोबारा सत्ता में आने पर 1लाख नौजवानों को करेंगे पुलिस में भर्ती
उन्होंने कहा कि प्रदेश में दोबारा सत्ता में आने पर गरीबों के इलाज का पूरा खर्च सरकार देगी। उनकी सरकार ने तो प्रदेश के उन लोगों की भी मदद की है जिन्होंने मुम्बई और दिल्ली में इलाज कराया था। अखिलेश ने कहा कि प्रदेश की सत्ता में दोबारा आने पर वह एक लाख नौजवानों को पुलिस में भर्ती करेंगे। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों के शिक्षकों नियमित करेंगे। सरकारी स्कूलों में हफ्ते में एक दिन दूध और एक दिन फल दिया जा रहा है। आने वाले समय में हम प्राथमिक स्कूलों में हर बच्चे को हर महीने एक किलो सूखा दूध और एक किलो घी देंगे।

loading...

You May Also Like

English News