सीएम नीतीश ने लड़कियों को शिक्षित करने का नायाब तरीका अपनाया

 एक मुहीम के तहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार महिला और बल विकास के कार्यो मे लगे हुए है. इसी क्रम मे एक और बड़ा फैसला लेते हुए नीतीश कुमार ने एलान किया है कि अब लड़की के इंटर पास पर सरकार उसे 10 हजार रुपए देगी लेकिन उसके अविवाहित होने की शर्त रखी गई है. इसी तरह लड़की के ग्रेजुएशन करने पर 25 हजार रुपए दिए जाएंगे. हालांकि ग्रेजुएशन में लड़की के विवाहित या अविवाहित होने की शर्त नहीं रहेगी. फैसला सीएम की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कैबिनेट की विशेष बैठक में लिया गया जिसका ध्येय बल विवाह को रोकना और बच्चियों को शिक्षित और आत्मनिर्भर बना है. बिहार : एक मुहीम के तहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार महिला और बल विकास के कार्यो मे लगे हुए है. इसी क्रम मे एक और बड़ा फैसला लेते हुए नीतीश कुमार ने एलान किया है कि अब लड़की के इंटर पास पर सरकार उसे 10 हजार रुपए देगी लेकिन उसके अविवाहित होने की शर्त रखी गई है. इसी तरह लड़की के ग्रेजुएशन करने पर 25 हजार रुपए दिए जाएंगे. हालांकि ग्रेजुएशन में लड़की के विवाहित या अविवाहित होने की शर्त नहीं रहेगी. फैसला सीएम की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कैबिनेट की विशेष बैठक में लिया गया जिसका ध्येय बल विवाह को रोकना और बच्चियों को शिक्षित और आत्मनिर्भर बना है.   मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि इस अहम बैठक मे गुरुवार को कैबिनेट की सहमति से मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना को मंजूरी दे गई. इस योजना को इसी माह से लागू किया जाएगा और इस योजना का लाभ परिवार के दो बच्चों तक ही समीति रहेगा. इसके साथ मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि राज्य में बच्चों के जन्म होने पर माता पिता के बैंक खाते में 2000 रुपए दिए जाएंगे.  एक वर्ष की उम्र में उसका आधार लिंक होने पर 1000 रुपए और टीकाकरण पूरा होने जाने पर 2000 रुपए दिए जाएंगे.  अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि समेकित बाल विकास छात्र योजना के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर 3-6 वर्ष के बच्चो को पोशाक के लिए सलाना 250 रुपए की बजाए 400 रुपए दिए जाएंगे. सरकार के इस फैसले के लगभग 32 लाख बच्चों को लाभ मिलेगा. गौरलतब है कि नीतीश कुमार ने बिहार में महिला और बल विकास के लिए कई समाज कल्याणकारी योजनाए चला रखी है. बाल विवाह और दहेज़ के खिलाफ ऐतिहासिक मानव श्रृंखला का निर्माण और पूर्ण शराबबंदी नीतीश सरकार के सराहनीय कदम रहे है.

मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि इस अहम बैठक मे गुरुवार को कैबिनेट की सहमति से मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना को मंजूरी दे गई. इस योजना को इसी माह से लागू किया जाएगा और इस योजना का लाभ परिवार के दो बच्चों तक ही समीति रहेगा. इसके साथ मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि राज्य में बच्चों के जन्म होने पर माता पिता के बैंक खाते में 2000 रुपए दिए जाएंगे.  एक वर्ष की उम्र में उसका आधार लिंक होने पर 1000 रुपए और टीकाकरण पूरा होने जाने पर 2000 रुपए दिए जाएंगे.

अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि समेकित बाल विकास छात्र योजना के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर 3-6 वर्ष के बच्चो को पोशाक के लिए सलाना 250 रुपए की बजाए 400 रुपए दिए जाएंगे. सरकार के इस फैसले के लगभग 32 लाख बच्चों को लाभ मिलेगा. गौरलतब है कि नीतीश कुमार ने बिहार में महिला और बल विकास के लिए कई समाज कल्याणकारी योजनाए चला रखी है. बाल विवाह और दहेज़ के खिलाफ ऐतिहासिक मानव श्रृंखला का निर्माण और पूर्ण शराबबंदी नीतीश सरकार के सराहनीय कदम रहे है.   

You May Also Like

English News