सीएम येदियुरप्पा की मुश्किलें शुरू

कर्नाटक में सीएम पद की शपथ लेते ही सीएम बीएस येदियुरप्पा की मुश्किलें शुरू हो गई है .भले ही येदियुरप्पा सीएम की कुर्सी पर बैठ गए लेकिन उनकी सबसे बड़ी चिंता 24 घंटे के अंदर उन्हें अपने समर्थन विधायकों की सूची सुप्रीम कोर्ट को सौंपने की है .बीजेपी के लिए 112 विधायकों की सूची बनाना आसान नहीं है .कर्नाटक में सीएम पद की शपथ लेते ही सीएम बीएस येदियुरप्पा की मुश्किलें शुरू हो गई है .भले ही येदियुरप्पा सीएम की कुर्सी पर बैठ गए लेकिन उनकी सबसे बड़ी चिंता 24 घंटे के अंदर उन्हें अपने समर्थन विधायकों की सूची सुप्रीम कोर्ट को सौंपने की है .बीजेपी के लिए 112 विधायकों की सूची बनाना आसान नहीं है .  गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव की 222 सीटों पर आए नतीजों में बीजेपी को 104 सीटें मिली हैं, जो कि बहुमत से 8 विधायक कम हैं. कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37, बसपा को 1 और अन्य को 2 सीटें मिली हैं. ऐसे में बीजेपी को 8 विधायक जुटाना कठिन है . हालाँकि इतना तो तय है कि भाजपा ने जब सरकार बनाने का दावा किया है तो पर्याप्त संख्या बल का भी विचार किया ही होगा. यह शक्ति परीक्षण में सामने आएगा लेकिन पहले तो 112 समर्थक विधायकों की सूची बनाना है.  आपको बता दें कि बीएस येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री पद के शपथ को रोकने के लिए कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंची. कोर्ट में आधी रात के बाद करीब साढ़े तीन घंटे चली बहस के बाद सुप्रीम कोर्ट ने येदियुरप्पा की शपथ पर रोक लगाने से इंकार कर दिया.लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी से राज्यपाल को दिए गए समर्थन पत्र माँगा है. इस मामले में अब कल शुक्रवार की सुबह 10.30 बजे जब दोबारा सुनवाई होगी तब येदियुरप्पा को अपने 112 विधायकों की सूची सुप्रीम कोर्ट को सौंपेंगे.

गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव की 222 सीटों पर आए नतीजों में बीजेपी को 104 सीटें मिली हैं, जो कि बहुमत से 8 विधायक कम हैं. कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37, बसपा को 1 और अन्य को 2 सीटें मिली हैं. ऐसे में बीजेपी को 8 विधायक जुटाना कठिन है . हालाँकि इतना तो तय है कि भाजपा ने जब सरकार बनाने का दावा किया है तो पर्याप्त संख्या बल का भी विचार किया ही होगा. यह शक्ति परीक्षण में सामने आएगा लेकिन पहले तो 112 समर्थक विधायकों की सूची बनाना है.

आपको बता दें कि बीएस येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री पद के शपथ को रोकने के लिए कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंची. कोर्ट में आधी रात के बाद करीब साढ़े तीन घंटे चली बहस के बाद सुप्रीम कोर्ट ने येदियुरप्पा की शपथ पर रोक लगाने से इंकार कर दिया.लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी से राज्यपाल को दिए गए समर्थन पत्र माँगा है. इस मामले में अब कल शुक्रवार की सुबह 10.30 बजे जब दोबारा सुनवाई होगी तब येदियुरप्पा को अपने 112 विधायकों की सूची सुप्रीम कोर्ट को सौंपेंगे. 

You May Also Like

English News