सीएम योगी की भांजी और भतीजी नौकरी के लिए रोजगार मेल पहुंची, योगी के पिता भी साथ थे!

देहरादून: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के छोटे भाई मानेंद्र सिंह की बेटी भी रोजगार मेले में नौकरी के लिए पहुंची। इस दौरान सीएम योगी के पिता भी उनके साथ रहे। अपने दादा आनंद सिंह बिष्ट के साथ पहुंची अर्चना बिष्ट का साक्षात्कार ऊधमसिंहनगर की कंपनी स्नाइटर में कराया गया।


हरिद्वार के भल्ला इंटर कालेज में लगे सेवायोजन एवं कौशल विकास विभाग की ओर से रोजगार मेले में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के छोटे भाई मानेंद्र सिंह बिष्ट की पुत्री अर्चना बिष्ट को नौकरी दिलाने के लिए उनके पिता आनंद सिंह बिष्ट भी पहुंचे। बीए उत्तीर्ण अर्चना बिष्ट ऑफिस मैनेजमेंट की डिप्लोमा धारक है।

अर्चना ने उधमसिंहनगर की कंपनी स्नाइटर में साक्षात्कार दिया। अर्चना के साथ-साथ आनंदा सिंह बिष्ट ने अपनी बेटी की पुत्री लक्ष्मी रावत को भी नौकरी दिलाने के लिए साक्षात्कार कराया। उन्होंने बताया कि अन्य अभ्यर्थियों की तरह वह मेले में अपनी पौत्री और नातिन को नौकरी दिलाने के लिए पहुंचे हैं।

उन्होंने अपने पुत्र योगी आदित्यनाथ से इस संबंध में कोई वार्ता नहीं की है। रोजगार मेले में उनके पहुंचने पर प्रदेश सरकार के मंत्रियों ने मंच पर बैठाकर सम्मान दिया। युवाओं के बीच भी वह आकर्षण का केंद्र बने रहे और अभ्यर्थियों ने उनके साथ सेल्फी ली। रोजगार मेले में प्राइवेट नौकरी के लिए पहुंची सीएम योगी आदित्यनाथ की भतीजी ने ऐसी बात कही जिससे सीएम चाचा भी गर्व करेंगे। अपने दादा आनंद सिंह बिष्ट के साथ पहुंची अर्चना बिष्ट का साक्षात्कार ऊधमसिंहनगर की कंपनी स्नाइटर में कराया गया।

इस दौरान जब उनसे मीडिया ने सवाल किया वे सीएम से बोलकर भी सरकारी नौकरी ले सकती थीं तो उन्होंने कहा कि भले ही सीएम योगी मेरे चाचा हैं लेकिन उन्होंने यह ऊंचाईयां अपने दम पर हासिल की है। हमें उनसे अपने पैरों पर खड़े होने की प्रेरणा मिलती है। इसलिए मैं पहले प्राइवेट नौकरी के लिए यहां आई हूं।

अपनी मेहनत से मैं बिना सिफारिश सरकारी नौकरी की तैयारी करूंगी। अपने पुत्र मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विकास कार्यों से उत्साहित दिखाई दिए आनंद सिंह बिष्ट ने उनके विकास कार्यों की जमकर सराहना की। उन्होंने योगी आदित्यनाथ के बारे में बताया कि वह बचपन से ही जुझारू थे और पढ़ाई लिखाई में समय देते थे।

बताया कि मुख्यमंत्री बनने के बाद वह सिर्फ एक बार नजीबाबाद में मिले हैं और अब बुधवार को लखनऊ में मिलेंगे। हरिद्वार के रोजगार मेले में अपन पौत्री और नातिन को प्राइवेट कंपनी में नौकरी दिलाने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट ने बताया कि योगी उत्तर प्रदेश में विकास कार्य कर रहे हैं और अपराध का खात्मा।

इससे प्रदेश का प्रत्येक व्यक्ति खुश है। अपने पुत्र के साथ लखनऊ में रहने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्होंने कभी नहीं सोचा है। वह अपनी मातृभूमि में अपने परिजनों के साथ खुश हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के कुछ लोग अपनी समस्या लेकर आते हैं जिस पर वह संबंधित जनपद के जिलाधिकारी से फोन पर वार्ता कर उनका निवारण कराने को कह देते हैं।

You May Also Like

English News