मिल गया स्वर्ग का दरवाजा, इतनी सीढ़ियां चढ़कर शरीर के साथ जाएं स्वर्ग

नई दिल्ली: आपको शरीर के साथ स्वर्ग घूमकर आना है? अगर हां तो एक जगह हम आपको बताते हैं।

मिल गया स्वर्ग का दरवाजा, 999 सीढ़ियां चढ़कर शरीर के साथ जाएं स्वर्ग
 
दुनियाभर में कई ऐसे अमेजिंग प्लेसेस हैं, जिनके बारे में जानकर हैरत होती है। ऐसी जगहें लोगों को भी खूब लुभाती हैं। इनमें से कुछ को जहां इंसानों ने अपनी मेहनत बनाया है, वहीं कुछ को नेचर ने अपने अंदाज में गढ़ा है। 
 

एक आइडिया जो आज आपको दिला सकता है पांच करोड़

ऐसा ही एक प्लेस चीन का तियानमेन माउंटेन है, जो वहां का प्रमुख टूरिस्ट अट्रैक्शन भी है। दरअसल, 1518 मीटर ऊंचे (लगभग 5 हजार फीट) इस पहाड़ पर दुनिया की सबसे ऊंची गुफा है। इस गुफा को स्वर्ग का दरवाजा भी कहा जाता है।

 

बादलों के बीच है ये गुफा

बताया जाता है कि 253 ईस्वी में पहाड़ का कुछ हिस्सा टूट गया, जिससे इस गुफा का निर्माण हुआ था। इसकी लंबाई 196 फीट, ऊंचाई 431 फीट तथा चौड़ाई 187 फीट है।

 

लगभग 5 हजार फीट की ऊंचाई पर होने की वजह से ये गुफा बादलों के बीच घिरा रहता है। संभवत: इस कारण से लोग इसे स्वर्ग का दरवाजा कहने लगे। 

कैसे आते हैं टूरिस्ट

टूरिस्ट यहां जाने के लिए सड़क के अलावा केबल वे का उपयोग भी करते हैं। दुनिया का सबसे लंबा (24459 फीट) और ऊंचाई पर बने इस केबल वे का नाम गिनीज बुक्स ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है।

 

इन कारणों से जरुर देखी जानी चाहिए ‘डिअर जिंदगी’

केबल वे और सड़कों से उतरने के बाद लोग 999 सीढ़ियां चढ़कर गुफा तक पहुंचते हैं। ताओ फिलॉसिफी के मुताबिक, ये 999 स्टेप सुप्रीम नंबर है और सम्राट का प्रतीक है।

थर्ड क्लास की बच्चियों ने कहा, मास्टर जी हमारे अंडरवियर में हाथ डालते हैं

कभी था वाटरफॉल

20वीं शताब्दी में तियानमेन माउंटेन के पास एक वाटरफॉल भी था, जो कि सिर्फ 15 मिनट के लिए ही दिखाई देता था। इसके बाद गायब हो जाता था। इसका पानी 1500 मीटर की ऊंचाई से सीधे नीचे गिरता था।

हालांकि, अब इस वाटरफॉल का कोई नामोनिशान नहीं है। वहीं, इस माउंटेन के बारे में ये भी कहा जाता है कि यहां पर काफी खजाने छुपे हुए हैं। इसे ढूंढने की कोशिश भी कई लोगों ने की, लेकिन वे असफल रहे। यहां बौद्ध मठ भी है।

 

You May Also Like

English News