सीतापुर में जतन के बाद भी कुत्तों का कहर जारी, बालिका को काटा

सीतापुर में बेहद हिंसक हो चुके कुत्तों पर भले ही पुलिस ड्रोन और नाइट विजन कैमरा से निगाह रख रही है, लेकिन कुत्तों का कहर जारी है। आज यहां पर शौच को गई एक बालिका पर कुत्तों के झुंड ने हमला करने बाद घायल कर दिया।दूसरी घटना खैराबाद थाना क्षेत्र के महसिंघपुर और चौबेपुर गांव की है। यहां 6 वर्षीय गीता पर आवारा कुत्तों ने हमला बोल कर मौत के घाट उतार दिया। चौबेपुर गांव के बाहर साइकिल से स्कूल जा रही एक किशोरी को हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

सीतापुर के खैराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम भगौतीपुर निवासी अशोक की दस वर्षीय पुत्री संगीता सुबह अपनी ताई राजरानी पत्नी राजेश के साथ खेत पर शौच के लिए गयी थी। इसी दौरान बालिका पर कुत्तो के झुंड ने हमला बोल दिया। बालिका का शोर सुनकर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने उसकी जान बचाई लेकिन तब तक वह गंभीर रूप से घायल हो चुकी थी। आनन-फानन में बालिका को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने गांव में काम्बिंग शुरू की है।

गौरतलब है कि सीतापुर में अब तक 35 आदमखोर कुत्ते पकड़े गए। इसके साथ ही उनके एनकाउंटर तथा नसबंदी पर जोर दिया जा रहा है। सीतापुर में अब आदमखोर कुत्तों के आतंक से निपटने के लिए पुलिस और प्रशासन ने अपनी कमर कस ली है। अब तक 35 कुत्तों को पकड़ा गया है। पहले उन्हें मारकर सीधे दफन कर दिया जा रहा था, लेकिन इस पर सवाल खड़े होने पर अब तक 22 कुत्तों की नसबंदी की जा चुकी है। कुत्ते कैसे आदमखोर हो गए। इसके लिए पशु पालन विभाग की टीम लखनऊ से जाएगी।

सीतापुर में इस तरह की पहली वारदात कोतवाली के गुजर ग्राम सभा के पीरपुर और बुढाना गांव में हुई। यहां आदमखोर कुत्तों ने दो बच्चों पर हमला बोल कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल बच्चों को इलाज के जिला अस्पताल में लाया गया, जहां उपचार के दौरान एक 10 वर्षीय मासूम बच्चे की मौत हो गई।

दूसरी घटना खैराबाद थाना क्षेत्र के महसिंघपुर और चौबेपुर गांव की है। यहां 6 वर्षीय गीता पर आवारा कुत्तों ने हमला बोल कर मौत के घाट उतार दिया। चौबेपुर गांव के बाहर साइकिल से स्कूल जा रही एक किशोरी को हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

 
 

You May Also Like

English News