सीरिया पर अमेरिकी हमले पर अंतर्राष्ट्रीय अंतर्विरोध सामने आया

मास्को/ वाशिंगटन : सीरिया में केमिकल हमले के बाद बड़ी कार्रवाई करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उसके एयर बेस पर 50 मिसाइलें दागने के बाद जहां रुस ने इस हमले का विरोध किया , वहीं इसराइल और ब्रिटेन ने इस हमले को सही बताते हुए इसका समर्थन किया है. एक घटना पर तीन देशों का अंतर्विरोध सामने आ गया.जबकि चीन ने तटस्थ रहकर अमेरिकी कार्रवाई का समर्थन तो नहीं किया लेकिन सीरिया द्वारा किए गए केमिकल हमले का विरोध जरूर किया.

सीरिया पर अमेरिकी हमले पर अंतर्राष्ट्रीय अंतर्विरोध सामने आया

शुरू हुआ तीसरा विश्व युद्ध अमेरिका ने दागीं मिसाइलें, केमिकल रिएक्‍शन में भड़का रूस

बता दें कि इन हमलों के बाद रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने इस कार्रवाई को गैरकानूनी बताते हुए कहा कि अमेरिका ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन किया है. इससे दोनों देशों के संबंधों को नुकसान पहुंचा है. क्रेमलिन के प्रवक्ता के बयान अनुसार पुतिन सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद के पक्के सहयोगी हैं और वो अमेरिका के इस कदम को सीरिया की संप्रभुता के खिलाफ अमेरिकी आक्रामकता के नजरिये से देखते हैं.पुतिन ने इसे अमेरिका द्वारा इराक में हो रही मौतों से दुनिया का ध्यान भटकाने का प्रयास बताया.

अभी-अभी: पाकिस्तान का राष्ट्रागान गाने वाले हुए गिरफ्तार

जबकि दूसरी ओर ब्रिटेन और इजराइल ने इसका समर्थन किया है. ब्रिटेन ने कहा कि यूके की मीडिया की खबरों के अनुसार सरकार पूरी तरह से अमेरिकी कार्रवाई के समर्थन में है. वहीं इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि वह सीरिया में संदिग्ध रासायनिक हमले के बदले में अमेरिका द्वारा किये गए हमले के जरिए दिए गए कड़े और स्पष्ट संदेश का समर्थन करते हैं.

You May Also Like

English News