सीरिया: युद्धविराम के बावजूद बमबारी, 7 लोगों की मौत

सीरिया में विद्रोहियों के कब्जे वाले पूर्वी घौता में रूस द्वारा प्रस्तावित पांच घंटों का युद्धविराम के बावजूद बमबारी थमने का नाम नहीं ले रही है. युद्धविराम के पहले दिन के दौरान कम से कम 7 नागरिक मारे गए.  मानवीय मामलों पर नजर रखने वाले संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने कहा कि रूस के संघर्ष विराम की घोषणा के बाद भी बमबारी जारी है.सीरिया: युद्धविराम के बावजूद बमबारी, 7 लोगों की मौत

अमेरिकी सैन्य अड्डे में लिफाफा खुलने के बाद 11 लोगों की तबियत बिगड़ी

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार स्थानीय समयानुसार मंगलवार सुबह 9 बजे शुरू हुआ युद्ध विराम दोपहर 2 बजे तक लागू रहा. बता दें कि  ‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद समझौता 2401’ के प्रभाव में आने के कुछ दिनों बाद ही सीरिया में यह मानवीय संधि लागू हुई है. समझौते के तहत सीरिया में सभी पार्टियों को तत्काल युद्ध बंद कर कम से कम 30 दिनों तक युद्धविराम लागू करना होगा.

सुरक्षा परिषद के सभी 15 सदस्यों ने प्रभावित इलाके में सहायता पहुंचाने के लिए वोट किया. मानवीय गलियारा सीरिया की राजधानी दमिश्क और पूर्वी घौते के बीच वाफिदीन क्रॉसिंग पर निर्धारित हुआ है. बता दें कि संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने कह था कि पूर्वी घौता में नर्क जैसे हालात हो गए हैं.

नागरिकों को जाने से रोकने के लिए की गोलीबारी

राज्य सरकार द्वारा संचालित अल एखबरिया टीवी ने कहा कि मंगलवार की सुबह नागरिकों को जाने से रोकने के लिए विद्रोहियों ने क्रॉसिंग के निकट एक स्थान पर गोलीबारी की. 

बता दें कि सीरिया में जारी बमबारी से 18 फरवरी के बाद 510 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले दो दिनों में मारे जाने के बाद मंगलवार को पांच बच्चों सहित 14 लोगों को मलबे से निकाला गया.

समूह ने कहा कि इस हमले में मृतकों का आंकड़ा 2013 में पूर्वी घौता में हुए कथित रसायनिक हमले के बाद से सबसे ज्यादा है. 2013 के हमले में करीब 1,400 लोगों की जान चली गई थी.

You May Also Like

English News