सुखपाल खैहरा को सिसोदिया ने लगाई फटकार,एनआरआइ का मिला समर्थन

आम आदमी पार्टी के विधायक और पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैहरा के लिए रेफरेंडम 2020 मामला मुसीबत बन गया है। इस मामले में उनकाे आप के पंजाब प्रभारी व दिल्‍ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने फटकार लगाई है। वह इस मामले पर सिसोदिया को सफाई देेने दिल्‍ली पहुंचे थे। दूसरी अोर खैहरा के समर्थन में अमेरिका, इटली, जर्मनी व कनाडा सहित कई देशों में रह रहे एनआरआइ ने अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा है। उन्‍होंने कहा है कि आम आदमी पार्टी में चल रहा घमासान ठीक नहीं हैसिसोदिया ने कहा कि इस तरह के बयान देना तो दूर, इसका विचार भी मन में लाने से पार्टी परहेज करती है। सिसोदिया ने कहा कि खैहरा से कहा गया है कि उन्होंने क्या बोला था और उसका क्या तात्पर्य था, इस बारे में स्थिति स्पष्ट करें।  खैहरा बोले-विवादित बयान प्रकाशित करने वाले अखबार को भेजा है नोटिस  सिसोदिया से मिलने के बाद खैहरा ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। उन्होंने उस अखबार को भी नोटिस भेजा है, जिसने उनके बारे में विवादित बयान छापा है। यदि अखबार उनका पक्ष नहीं छापेगा तो वह मानहानि का केस करेंगे। खैहरा के सिसोदिया से मिलने के दौरान पंजाब से आप के कुछ विधायक भी मौजूद थे। पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान अरविंद केजरीवाल भी खालिस्तान समर्थक के घर ठहरने के कारण विवादों में घिर गए थे।  खैहरा के समर्थन में उतरे एनआरआइ, केजरीवाल को पत्र  दूसरी ओर, रेफरेंडम 2020 को लेकर खैहरा के पक्ष में अमेरिका, इटली, जर्मनी व कनाडा सहित कई देशों में रह रहे एनआरआइज ने अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि आम आदमी पार्टी में चल रहा घमासान ठीक नहीं है। कट्टरपंथियों की तरफ से लिखे गए पत्र में कहा गया कि वे खैहरा के पक्ष में हैं।

खैहरा ने सिसोेदिया से उनके एबी मथुरा रोड स्थित आवास पर मुलाकात की। उन्‍होंने रेफरेंडम 2020 मामले में अपनी सफाई दी। बताया जाता है कि इस दौरान सिसोदिया ने खैहरा को जमकर फटकार लगाई। सिसो‍दिया ने खैहरा को इस मामले में अपनी सफाई पार्टी के प्रदेश प्रधान के जरिये भेजने को कहा।

बता दें कि खैहरा पर खालिस्तान की मांग को लेकर कट्टरपंथियों के रेफरेंडम 2020 अभियान का समर्थन करने का आरोप है। इससे पंजाब की राजनी‍ति में विवाद पैदा हो गया और खैहरा विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए। अाम अादमी पार्टी के नेता और नेतृत्व उनसे नाराज है। इसी के मद्देनजर वह अपना पक्ष रखने के लिए मनीष सिसोदिया से मिले। बताया जाता है कि नाराज सिसोदिया ने खैहरा को पंजाब अध्यक्ष के जरिये जवाब भेजने को कहा है।

सिसोदिया ने कहा कि इस तरह के बयान देना तो दूर, इसका विचार भी मन में लाने से पार्टी परहेज करती है। सिसोदिया ने कहा कि खैहरा से कहा गया है कि उन्होंने क्या बोला था और उसका क्या तात्पर्य था, इस बारे में स्थिति स्पष्ट करें।

खैहरा बोले-विवादित बयान प्रकाशित करने वाले अखबार को भेजा है नोटिस

सिसोदिया से मिलने के बाद खैहरा ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। उन्होंने उस अखबार को भी नोटिस भेजा है, जिसने उनके बारे में विवादित बयान छापा है। यदि अखबार उनका पक्ष नहीं छापेगा तो वह मानहानि का केस करेंगे। खैहरा के सिसोदिया से मिलने के दौरान पंजाब से आप के कुछ विधायक भी मौजूद थे। पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान अरविंद केजरीवाल भी खालिस्तान समर्थक के घर ठहरने के कारण विवादों में घिर गए थे।

खैहरा के समर्थन में उतरे एनआरआइ, केजरीवाल को पत्र

दूसरी ओर, रेफरेंडम 2020 को लेकर खैहरा के पक्ष में अमेरिका, इटली, जर्मनी व कनाडा सहित कई देशों में रह रहे एनआरआइज ने अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि आम आदमी पार्टी में चल रहा घमासान ठीक नहीं है। कट्टरपंथियों की तरफ से लिखे गए पत्र में कहा गया कि वे खैहरा के पक्ष में हैं।

You May Also Like

English News