सुहागरात पर पति नहीं देवर आया, कैमरा लेकर खड़े थे ससुरालवाले

मां-बासुहागरात पर पति नहीं देवर आया, कैमरा लेकर खड़े थे ससुरालवालेप ने जब डि‍मांड पूरी करने में असमर्थता जताई तो उसने विदाई के लिए मना कर दिया। काफी मान-मनौव्‍वल और बातचीत के बाद दूल्‍हे का परिवार माना और मुझे विदा करके ले गए।

सुहागरात पर पहले तो कमरे में देवर घुस आया और अश्‍लील हरकत करने लगा। लड़की ने कहा जब मैंने उसका विरोध किया तो उसने मेरी पिटाई कर दी। मैंने शोर मचाया तो वो वहां से भाग निकला। 
रात करीब 9 बजे पति शराब पीकर कमरे में आया और मेरे कुछ बोलने से पहले मेरे साथ जबरदस्‍ती अननेचुरल सेक्‍स की कोशि‍श करने लगा। मैंने विरोध किया तो उसने मुझे चाकू मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। 
जब मैंने शोर मचाया तो सास-ससुर आ गए। मेरी शि‍कायत पर भी उन्‍होंने अपने बेटे का साथ देते हुए मेरी पिटाई कर दी।  मेरी चीखें सुनकर पड़ोसी इकठ्ठा हो गए और मेरे घरवालों को जानकरी दी।
लड़के पक्ष के वकील एडवोकेट पीएल शर्मा के मुताबिक, फेरों के समय शर्त रख दी गई कि शादी के बाद लड़की पहले मायके जाएगी और कुछ दिन बाद ससुराल आएगी।
शर्त नहीं मानने पर रात में ही 30 लाख रुपए हर्जाना देकर शादी खत्म करने की बात कही गई थी। बेइज्जती के डर से लड़के पक्ष ने हाथ-पांव जोड़कर लड़की को घर ले जाने पर राजी किया।
 
ससुराल आते ही लड़की ने खूब हंगामा करना शुरू कर दिया। रिश्तेदारों के रोकने पर लड़की ने सबको गालियां दी और लड़के के जीजा के कपड़े तक बाहर फेंक दिए।
जबरदस्त उत्पात के बाद लड़की ने खुद को घायल कर लिया और दिन में ही घर से वापस आ गई थी।
पीड़ि‍त परिवार ने आरोपि‍यों के खि‍लाफ शाहगंज में तहरीर दी है। वहीं, अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होने पर सोमवार को पीड़ि‍ता ने आईजी सुजीत पांडेय से मदद की गुहार लगाई।
उन्‍होंने पीड़ि‍त परिवार को मदद का आश्‍वासन देते हुए जांच कर कार्रवाई की बात कही है।
 

You May Also Like

English News