सूरत में मुस्लिमों ने पोस्टर लगाकर कांग्रेस को दी बड़ी चेतावनी, कहा- टिकट नहीं तो वोट नहीं

गुजरात विधानसभा चुनाव के सियासी रणभूमि में मुस्लिमों पर कांग्रेस की खामोशी मुसीबत का सबब बन सकती है. गुजरात के सूरत शहर में मुस्लिम समुदाय ने बैनर लगाकर कांग्रेस को चेतावनी दी है कि विधानसभा का टिकट नहीं तो वोट नहीं.सूरत में मुस्लिमों ने पोस्टर लगाकर कांग्रेस को दी बड़ी चेतावनी, कहा- टिकट नहीं तो वोट नहींगुजरात चुनावः पुराने जीत के फार्मूले पर असमंजस में पड़े अमित शाह और PM मोदी…

बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात की राजनीतिक जंग को फतह करने के लिए सॉफ्ट हिंदुत्व की राह पर है. इसी मद्देनजर वो मुस्लिमों पर खामोशी अख्तियार किए हुए, ऐसे में कांग्रेस का ये परंपरागत वोटर बेचैन है. उन्हें लगता है कि कहीं कांग्रेस भी उन्हें टिकट न दें.

सूरत के मुस्लिम समुदाय ने बैनर लगाकर कांग्रेस से मांग किया है, जिसमें कहा गया है कि यदि गुजरात विधानसभा चुनाव में टिकट आवंटन के दौरान मुस्लिम समुदाय की अनदेखी की गयी तो मुस्लिमों के वोट पार्टी को नहीं मिलेंगे.

कांग्रेस के एक स्थानीय नेता ने कहा कि उन मीडिया रिपोर्टों के मद्देनजर पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं ने बैनर लगाये हैं, जिनमें कहा गया था कि यहां एक विधानसभा क्षेत्र से टिकट आवंटन में गुजरात कांग्रेस के मुस्लिमों की अनदेखी किये जाने की संभावना है. जबकि माना जा रहा है कि कांग्रेस आज अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर सकती है.

सूरत-पूर्व विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले पुराने शहर के कई स्थानों पर आज ये बैनर लगे हुए मिले. मौजूदा समय इस सीट से बीजेपी के रंजीत गिलितवाला विधायक है. 

गुजरात में बीजेपी मुस्लिम मतों को लगातार साधने की जुगत में लगी है. विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने मुस्लिम समुदाय के दो सौ कार्यकर्ताओं को प्रचार में उतारा है. मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्र में ये घर-घर जाकर मुस्लिम के दिल में कमल खिलाने के लिए जगह बनाना रहे हैं.

बता दें कि गुजरात में 9 फीसदी मुस्लिम आबादी है. राज्य की 182 सीटों में से 25 सीटें ऐसी हैं, जहां मुस्लिम समुदाय किसी भी पार्टी को जिताने और हराने का ताकत रखते हैं. गुजरात के मुस्लिम समुदाय के बीच बीजेपी ने जगह बनाई है. पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने मुस्लिम बाहुल्य वाली सीटों में से 17 सीटें जीतने में सफल रही है.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह खुद भी कहते हैं कि गुजरात के पांच मुस्लिम में से एक वोट बीजेपी को मिलता है. इस तरह देखा जाए तो 20 फीसदी वोट बीजेपी मिलता है. गुजरात के नगर निकाय चुनाव में बीजेपी के टिकट पर 200 मुस्लिम समुदाय के पार्षद जीतने में सफल रहे हैं. 

You May Also Like

English News