पाकिस्तान में घुसकर सेना ने ध्वस्त किए 3 कैंप, 20 आतंकी ढेर….

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के उड़ी में सेना हेडक्वार्टर पर आतंकी हमले का इंडियन आर्मी ने बदला ले लिया है। स्पेशल फोर्स की दो यूनिटों ने उड़ी सेक्टर से लगते पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) स्थित 3 आतंकी ट्रेनिंग कैम्पों को ध्वस्त कर दिया। इस कार्रवाई में करीब 20 टेररिस्ट मारे गए। मीडिया रिपोर्ट्स के दावों की माने तो इस कार्रवाई में करीब 200 टेररिस्ट घायल भी हुए। हालांकि अब तक ये खबर ऑफिशियली कन्फर्म नहीं हुई है। कब अंजाम दिया गया ऑपरेशन…
maxresdefault 
आर्मी सूत्रों के हवाले से आई इन खबरों के मुताबिक सेना के स्पेशल कमांडो दस्तों ने 20-21 सितंबर की रात को इस ऑपरेशन को अंजाम दिया।
इसमें सेना ने हेलिकॉप्टर की भी मदद ली। पाकिस्तान द्वारा पीओके को नो फ्लाई जोन घाेषित करने से पहले ही इस पहले सर्जिकल आॅपरेशन को इंडियन आर्मी ने अंजाम दिया।
गौरतलब है कि उड़ी आतंकी हमले के बाद भारत की रणनीति पर नजर रखे पाकिस्तान ने सीमावर्ती इलाकों में अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं।
पीओके के साथ ही गिलगित-बाल्टिस्तान रीजन के स्कर्दू एवं अन्य प्रमुख स्थानों को नो फ्लाई जोन घोषित किया जा चुका है, ताकि भारत की किसी भी कार्रवाई की सूरत में जवाबी कार्रवाई की जा सके। 
पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के प्रवक्ता दन्याल गिलानी ने मंगलवार शाम ट्वीट करके इस फैसले की जानकारी दी है
पर्रिकर ने शाम को ही कहा था- पीएम ने कुछ बोला है तो करेंगे ही
 
बुधवार शाम डिफेन्स मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर ने कहा कि अगर पीएम नरेंद्र मोदी ने कुछ कहा है, तो ये तय मानिए कि कुछ न कुछ हो रहा है और उड़ी हमले के बाद हिला देने वाले जवाब की जरूरत है। 
इस खबर का असर ट्विटर पर भी नजर आया। खबर आने के बाद देररात ट्विटर पर “Spl Forces Cross LoC”और“Kill 20 Terrorists”टॉप ट्रेंडिंग में आ गया।
लोगों ने हैश टैग के साथ रिएक्शन जाहिर किए। कथित कार्रवाई से जुड़ी इन्फॉर्मेशन को रातभर में करीब तीन हजार से ज्यादा बार ट्वीट और रीट्वीट किया गया।
ट्विटर पर कई लोग खबर की सच्चाई को लेकर पूछताछ करते नजर आए। कई ने इसे अफवाह भी कहा।
 

You May Also Like

English News