सेना में जाने के लिए लिखित परीक्षा 26 को, देखिए भर्ती के छह नए नियम

सेना में जाने के लिए आवेदन किया है तो 26 नवंबर को एग्जाम देने के लिए पहुंच जाएं। वहीं जान लीजिए कि इस बार छह नए नियमों के तहत भर्ती होगी।

सेना में जाने के लिए लिखित परीक्षा 26 को, देखिए भर्ती के छह नए नियमसेना में सैनिक जीडी, सैनिक तकनीकी एवं सैनिक ट्रेडसमैन की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आगामी 26 नवंबर को हिसार कैंट में आयोजित की जाएगी। सैनिक क्लर्क ट्रेड की लिखित परीक्षा आगामी 28 जनवरी को आयोजित की जाएगी। 26 नवंबर को सभी उम्मीदवारों को परीक्षा के लिए सुबह 4 बजे हिसार कैंट के प्रवेश द्वार टीसीपी नंबर 2 पर पहुंचना होगा।

सेना भर्ती कार्यालय चरखी दादरी के भर्ती निर्देशक कर्नल अजीत कुमार पिल्लई ने बताया कि परीक्षा के समय सभी उम्मीदवारों को अपना प्रवेश पत्र, आधार कार्ड एवं जिन उम्मीदवारों के पास एनसीसी प्रमाण पत्र है वह साथ लाना होगा। इसके अलावा सेवारत सैनिक, पूर्व सैनिक, सैन्य एवं युद्ध विधवाओं के पुत्र को अपना रिलेशन प्रमाण पत्र साथ लेकर आना अनिवार्य किया गया है।

गौरतलब है कि हरियाणा के हिसार स्थित सेना भर्ती कार्यालय में 10 जनवरी से खुली भर्ती होने जा रही है। इसमें जिला हिसार, जींद, फतेहाबाद और सिरसा के युवा भाग ले सकेंगे। भर्ती में भाग लेने के लिए उम्मीदवारों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। भर्ती के समय आवेदक को अपने साथ मूल दस्तावेज साथ लाने होंगे। आधार कार्ड की मूल प्रति भी साथ लेकर आएं।

हिसार भर्ती कार्यालय के निदेशक ने बताया कि सेना भर्ती कार्यालय हिसार में 10 से 20 जनवरी तक सेना में सैनिक (सामान्य ड्यूटी), सैनिक (लिपिक/स्टोर कीपर/ तकनीकी), सैनिक तकनीकी, सैनिक ट्रेड मैन और जेसीओ श्रेणी के पदों के लिए भर्ती का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा 16 रंगीन पासपोर्ट फोटो, जिस पर नाम, जन्मतिथि छपी हो। सिख उम्मेदवारों की फोटो पगड़ी और पटके के साथ हो। बिना आधार नंबर के आवेदन को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

इन दस्तावेजों में आवेदन की कॉपी के साथ-साथ मैट्रिक/12वीं का प्रमाण पत्र, बोनाफाइड हरियाणा निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, चरित्र प्रमाण पत्र और अविवाहित प्रमाण पत्र की मूल प्रति साथ लानी अनिवार्य हैं। चारों प्रमाण पत्र छह महीने के भीतर बनवाए गए हों। खिलाड़ी को मूल प्रमाण पत्र के साथ निदेशक हरियाणा युवा मामले विभाग का ग्रेडेसन सर्टिफिकेट साथ लाना होगा। सैनिक/भूतपूर्व सैनिक/विधवाओं के पुत्र अपने साथ संबंध प्रमाण पत्र की मूल प्रति साथ अवश्य लाएं।

 
आंखों की पुतलियों और फिंगरप्रिंट का डाटा जुटाया जाएगा
सेना भर्ती में दस्तावेजी फर्जीवाड़े को लेकर सेना अलर्ट है। सेना लगातार नियमों को और सख्त बनाने में जुटी हुई है। इसी कड़ी में सेना ने अब यह फरमान जारी किया है कि खुली भर्ती के दौरान अभ्यर्थियों की आंखों की पुतलियों और फिंगरप्रिंट का डाटा जुटाया जाएगा। इसका मिलान संबंधित अभ्यर्थियों के आधार कार्ड के साथ किया जाएगा। मिलान होने पर ही अभ्यर्थी सेना भर्ती में भाग ले पाएगा, अन्यथा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

 
अभ्यर्थी को शपथपत्र देना होगा
भर्ती मुख्यालय के सैन्य अफसरों ने बताया कि अब भर्ती से पहले अभ्यर्थी को शपथपत्र देना होगा कि ‘मैं कुंवारा हूं’ तभी उसके आवेदन पर विचार किया जाएगा। इससे फर्जीवाड़े पर काफी हद तक लगाम लगेगी। दरअसल पिछले कुछ समय से भर्ती में फर्जीवाड़े से सेना के अफसर परेशान हैं। इससे बचने के लिए भर्ती के कई नियमों में फेरबदल का फैसला लिया।

 
21 साल से कम उम्र तो देना होगा शपथपत्र
सेना की खुली भर्ती में 18 साल से अधिक आयु के युवक ही भाग ले सकते हैं,  वहीं भर्ती मुख्यालय ने फैसला लिया है कि भर्ती के लिए आने वाले 21 साल से कम उम्र के युवकों को शपथपत्र देना होगा कि वह कुंवारा है। इस शपथपत्र को उसे अपने गांव के सरपंच या शहर में वार्ड के पार्षद व अन्य जनप्रतिनिधि से सत्यापित भी कराना होगा।’ उसके बाद ही उसके आवेदन पर विचार किया जाएगा।

 
कान में मैल मिलने या बाल बड़े मिले तो अनफिट
भर्ती के दौरान यदि कान में मैल मिलने या फिर कान के बाल बड़े मिले तो आवेदक को अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा। भर्ती मुख्यालय ने भर्ती के दौरान इससे संबंधित डाक्टरी परीक्षा में फेरबदल किया है। पहले ऐसे अभ्यर्थियों को पूरी तरह से फिट होने के लिए 21 से 42 दिन का समय दे दिया जाता था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। उन्हें मौके पर ही अनफिट कर दिया जाएगा।

लिपिक पद के लिए शैक्षणिक योग्यता बदली गई
सेना में लिपिक पद की भर्ती के दौरान शैक्षणिक योग्यता में भी फेरबदल किया गया है। अब लिपिक पद की भर्ती के लिए अभ्यर्थी को बारहवीं में 60 फीसदी अंक लेने अनिवार्य होंगे। पहले केवल बारहवीं पास से काम चल जाता था। इसके अतिरिक्त गणित और अंग्रेजी में 50 अंक होने भी जरूरी हैं। ऐसा न होने पर उन्हें सैनिक लिपिक परीक्षा के अयोग्य माना जाएगा। इसके अतिरिक्त अब सभी अभ्यर्थियों को आधार कार्ड भी देना अनिवार्य होगा।

 

You May Also Like

English News