सेवानिवृत्त डीआईजी के घर चोरी, पड़ोसियों ने चोरों को दौड़ाया

सेवानिवृत्त डीआईजी के घर चोरी, पड़ोसियों ने चोरों को दौड़ायालखनऊ , 29 नवम्बर। पीजीआई के साउथ सिटी इलाके में रहने वाले झारखण्ड पुलिस से सेवानिवृत्त डीआईजी डीजे शर्मा के बन्द घर पर रविवार की रात चोरों ने धावा बोल दिया। चोर घर के अंदर घुसे पर कुत्तों ने भौकना शुरू कर दिया। इस पर पड़ोसियों की आंख खुल गयी और चोर घर से निकल कर अपनी कार से भागने लगे। इस बीच चोरों की कार एक नाली में फंस गये और चोर अपनी कार छोड़कर वहां से फरार हो गये। झारखण्ड पुलिस से डीआईजी के पद से सेवानिृवत्त डीजे शर्मा अपनी पत्नी एलएम शर्मा के साथ साऊथ सिटी के जे ब्लाक 76 में रहते हैं। उनके पडोस के मकान जे 75 में आरईएस के अवर अभियन्ता विनोद तिवारी रहते हैं। विनोद कुमार के अनुसार शनिवार को डीआईजी अपनी पत्नी के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए रांची गये थे। डीजे शर्मा ने घर की देखरेख के लिए चाभी अवर अभियंता को दे दी थी। विनोद कुमार के मुताबिक रविवार रात वह अपने घर मे सोये हुए थे तभी देर रात ढाई बजे के आस पास मोहल्ले के कुत्तों के भौंकने की आवाज सुनायी दी और उनकी नीद खुल गयी। विनोद जागकर बाहर आये तो डीआईजी के घर से खटपट की आवाजे सुनायी दी। विनोद ने इसकी जानकारी पड़ोस में रहने वाले जज राम राज राम को फोन से दी। इसके बाद रामराज और विनोद ने हिम्मत जुटाई और डीआईजी डीजे शर्मा के घर का ताला खोलने लगे। इसी बीच 2से 3 बदमाश घर के अन्दर से बाउन्ड्री के सहारे बगल में पड़े खाली प्लाट जे 77 मे कूदकर भागने लगे। घर से कूदते ही चोरों ने मकान के पीछे खड़ी की गयी अपनी कार में पहुंचा और कार में बैठकर भागने लगे। इसी बीच कार का
पहिया रास्ते में सड़क के किनारे बनी नाली में फस गया। खुद को फंसता देख चोर अपनी कार छोड़कर फरार हो गये। चोरों के भागने के बाद लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस को छानबीन के दौरान बाउन्ड्री के पास ही एक जेवर की पोटली पड़ी थी । पुलिस व पड़ोसी अन्दर गये तो देखा घर के सारे दरवाजो के लाक टूटे हुए थे अल्मारिया खुली पड़ी थी और घर का सारा सामान बिखरा पड़ा था। पुलिस ने घटना की गम्भीरता को देखते हुए सेवानिवृत्त डीआईजी को सूचना दी और मौके पर डाग स्क्वायड व फिंगर प्रिन्ट की टीम बुलवाई। पुलिस ने पड़ोस मे लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले है और छानबीन कर रही है।

बहन ने अपने ही बड़े भाई की बेरहमी की हत्या, वजह जान के रह जायेंगे दंग

कार मे पहले से मौजूद था कुछ चोर चोरो ने अपनी नीले रंग की आईटेन कार को डीआईजी के मकान के पीछे जे 68 प्लाट के सामने खड़ा किया था। शोर होने पर जैसे ही चोर भाग कर निकले और कार मे बैठे वैसे ही कार चल दी। लोगों का कहना है कि इस बात की आशंका है कि घर में घुसे चोरों के अलावा भी कुछ चोर पहले से कार में मौजूद थे। गाड़ी के नम्बर के आधार पर तालाश जारी चोरों ने इस वारदात में जिस कार को प्रयोग किया वह कार शंकर दयाल राजपूत के नाम दर्ज है और वह इस कार के तीसरे आनर है। अभी तक इस बात का पता नहीं चल सका है कि सेवानिवृत्त डीआईजी के घर से कितने का माल गया है। पुलिस का कहना है कि उनके आने के बाद ही इस बात का पता चल सकेगा।

 
 
 
 

You May Also Like

English News