सोना लूटकाण्ड का एक आरोपी गिरफ्तार, वारदात में शामिल चार आरोपी अभी फरार

लखनऊ , 13 जनवरी । महानगर हनुमान सेतु के पास बीते 29 दिसम्बर को सर्राफ से हुई 3 किलो सोना लूट का महानगर पुलिस ने खुलासा करते हुए लविवि के एक छात्र अनूप को गिरफ्तार किया है। अनूप सोना लूटकाण्ड में शामिल था, पर उसके पास से कोई बरामदगी नहीं हुई है। इस लूटकाण्ड में अभी चार और लोगों का पकड़ा जाना बाकी है। पुलिस का मानना है कि उनके लोगों के पकड़े जाने के बाद सोने की बरामदगी हो सकती है। सीओ महानगर विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि तीन किलो सोना लूट के मामले में सर्राफ दताराम वर्मा ने लविवि के दो छात्र उपेन्द्र व अभिषेक को नामजद किया था। पुलिस कई दिनों से दोनों की तलाश में लगी थी पर वह हाथ नहीं आ रहे थे। पुलिस ने जब दोनों के मोबाइल फोन की सीसडीआर खंगाली तो पुलिस को लविवि के छात्र बलिया निवासी अनूप के बारे में पता चला। पुलिस ने अनूप की भूमिका पता लगानी शुरू की तो पता चला कि लूट की इस वारदात में अनूप भी शामिल था। शुक्रवार को महानगर पुलिस ने आरोपी छात्र अनूप को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल आरोपी छात्र अनूप के पास से लूटा गया सोना बरामद नहीं हो सका है। आरोपी अनूप का कहना है कि लूटा गया सोना उपेन्द्र व अभिषेक के पास मौजूद है। आरोपी अनूप ने बताया कि इस लूट की वारदात में पांच लोग शामिल थे। अब महानगर पुलिस वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश में जुट गयी है। सीओ महानगर ने बताया कि लूट का असली मास्टर माइंड उपेन्द्र व अभिषेक हैं। उनके पकड़े के पूरे घटनाक्रम पर से पर्दा उठेगा।
उन्होंने यह भी बताया कि फरार आरोपी उपेन्द्र बलिया का रहने वाला है और मौजूद समय में अवैध रुप से लविवि के छात्रावास में रहता है। उसने अभी तक किसी भी कोर्स में दाखिला नहीं लिया है।
 
यह है पूरी घटना
विकासनगर के सेक्टर-14 में सर्राफा कारोबारी दताराम वर्मा रहते हैं। उनकी चौक सर्राफा मार्केट में पुष्पांजली ्रज्वैलर्स के नाम से सर्राफ की
दुकान है। बीते 29 दिसम्बर को अभिषेक नाम का एक युवक उनकी दुकान पहुंचा था। उस वक्त दुकान पर दताराम का भांजा आकाश व अन्य कर्मचारी मौजूद थे। आरोपी अभिषेक ने उन लोगों को बताया था कि एक अधिकारी 3 किलो सोना खरीदना चाहते हैं और वहीं पर सोने की कीमत की डीडी भी उन लोगों को दी जायेगी। इसके बाद सर्राफ का भांजा आकाश अपने तीन कर्मचारियोंं के साथ तीन किलो सोना लेकर अभिषेक के साथ हनुमान सेतु पहुंचे। वहां पर अभिषेक का साथी उपेन्द्र आ गया। उपेन्द्र ने  सर्राफ के भांजे से सोना दिखाने के लिए कहा
तो सर्राफ के भांजे आकाश ने सड़क पर इस तरह डीलिंग की बात से इंकार करते हुए दुकान पर चलकर बातचीत की बात कही। इस बीच आरोपी उपेन्द्र ने उन लोगों के पास मौजूद बैग में रखा तीन किलो सोना लूटा और अपने साथी अभिषेक के साथ लविवि परिसर के अंदर होते हुए भाग निकला। इस घटना के बाद पीडि़त सर्राफ ने पुलिस से शिकायत की तो महानगर, चौक व कैसरबाग पुलिस ने पीडि़त को सीमा
विवाद में उलझा दिया। बीते 8 जनवरी को पीडि़त सर्राफ एसएसपी मंजिल सैनी से मिला तब जाकर महानगर पुलिस ने एसएसपी के आदेश पर तीन किलो सोना लूट की रिपोर्ट दर्ज की।

 
 
 
 

You May Also Like

English News