सोपोर से लश्कर का आतंकी बासित हुआ गिरफ्तार: जम्मू एवं कश्मीर

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, राष्ट्रीय राइफल और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने खूंखार आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा के आतंकी बासित नजर को गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है. इस आतंकी को कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर से गिरफ्तार किया गया है. 25 वर्षीय आतंकी बासित नजर सोपोर का रहने वाला है. सुरक्षा बलों ने उसके पास से एक पिस्टल भी बरामद की है. जम्मू एवं कश्मीर में लश्कर-ए-तैय्यबा लगातार आतंकी हमले कर रहा है.सोपोर से लश्कर का आतंकी बासित हुआ गिरफ्तार: जम्मू एवं कश्मीरअभी-अभी: मायावती को रोकने के लिए मोदी का मास्टर माइंड प्लान, अब योगी नहीं केशव मौर्य बन सकते हैं मोदी के मुख्यमंत्री…

इससे पहले 17 जुलाई को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में तीन आतंकियों को ढेर किया था. इनमें लश्कर-ए तैयबा का जिला कमांडर जिबरान भी शामिल था. आतंकियों से मुठभेड़ अनंतनाग के ब्राकपोरा इलाके में हुई थी. घाटी में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सुरक्षा बल फौरन ऑपरेशन चला रहे हैं. इसके अलावा घाटी में आतंकवाद और पत्थरबाजी को हवा देने वाले अलगाववादी नेताओं पर भी शिकंजा कसा जा रहा है.

एनआईए अब तक आठ अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार कर चुकी है. वरिष्ठ अधिकारियों की माने तो इनकी गिरफ्तारी के बाद से घाटी में हिंसा कम हो रही है. सूत्रों के मुताबिक NIA की नजर अब बड़े अलगाववादी नेताओं को शिकंजे में लेने पर है. सभी सुरक्षा एजेंसियां भारत-पाकिस्तान के रास्ते हो रहे हवाला-पैसों के कारोबार पर पैनी नज़र बनाए हुए हैं. इन पैसों का लेन-देन सीधे तौर पर आतंकी संगठनों के जरिए होता है.

यही वजह है कि एनआईए ने अलगाववादी नेताओं पर अपनी नजर रखी हुई है. एनआईए अब फंडिंग के अलावा घाटी में होने वाली हिंसा के कारण के जड़ में जाना चाहती है. सूत्रों की मानें, तो एनआईए ने कुछ लोगों की लिस्ट भी तैयार की है. जिसमें कई अलगाववादी नेता भी शामिल हैं. गिरफ्तार अलगाववादी नेताओं में बिट्टा कराटे, नईम खान, अल्ताफ फंटूस, शहीद उल इस्लाम सहित दूसरे हुर्रियत नेता शामिल हैं.

loading...

You May Also Like

English News