सोशल मीडिया पर वायरल हुई कपिल मिश्रा और मनोज तिवारी की ये तस्वीर, मचा ये बड़ा बवाल

नई दिल्ली: टीम डिजिटल। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही कपिल मिश्रा की एक तस्वीर उनकी मुसीबतों को और बढ़ा सकती है। आम आदमी पार्टी से बगावत के बाद बागी हुए ‘आप’ के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा की एक तस्वीर सोशल साइटों पर वायरल हो रही है। जो उनकी भूमिका पर बड़े सवाल खड़े कर रही है।सोशल मीडिया पर वायरल हुई कपिल मिश्रा और मनोज तिवारी की ये तस्वीर, मचा ये बड़ा बवालयह भी पढ़े:> संबंध बनाते समय भतीजे से बोली आंटी- अब बस करो, फिर हुआ ये…

कपिल मिश्रा की बगावत के बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि कहीं वो बीजेपी से मिलकर तो ये सब नहीं कर रहे। लेकिन अब जो तस्वीरें वायरल हो रही हैं उन्होंने कपिल मिश्रा की बीजेपी से मिलीभगत और सांठ-गांठ को लेकर कुछ संदेह को पुख्ता कर दिया है।

क्या है तस्वीर में

तस्वीरों में बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के बिल्कुल बराबर में बैठकर कपिल मिश्रा डिनर कर रहे हैं। हालांकि उनके साथ पत्रकार विप्लव अवस्थी और अन्य लोग भी मौजूद हैं। आम आदमी पार्टी की नेता अंजलि दमानिया ने इस तस्वीर को ट्वीट कर लिखा है कि, क्या ये आप की सरकार को गिराने के लिए बीजेपी का मेगा प्लान था। अंजलि दमानिया ने ये भी लिखा है कि क्या मनोज तिवारी, कपिल मिश्रा और विपल्व अवस्थी ने मिलकर आप को नुकसान पहुंचाने के लिए साजिश रची। इस तस्वीर में सभी खाना खाते हुए और बात करते दिख रहे हैं। लेकिन दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तजिन्दर पाल सिंह बग्गा ने एक ट्वीट कर अंजलि दमानिया के इन सारे आरोपों को झूठ करार दिया है।

BJP की सफाई

तजिन्दर पाल सिंह बग्गा ने दावा किया है कि ये तस्वीर दो साल पुरानी है। बग्गा ने लिखा है कि कितनी बेशर्मी से 2 साल पुरानी तस्वीरें दिखाकर अंजलि दमानिया केजरीवाल जी को रिश्वत कांड से बचाने का प्रयास कर रही हैं,लेकिन फिरसे पोल खुल गई।

तजिन्दर पाल सिंह बग्गा ने उसी तस्वीर को लेकर ट्वीट किया है। इस तस्वीर को विप्लव अवस्थी ने फेसबुक पर डाला है। इस तस्वीर में तारीख 21 सितंबर 2015 दर्ज है। इस तस्वीर में विप्लव अवस्थी ने लिखा है कि, सांसद मनोज तिवारी, मंत्री कपिल मिश्रा, और हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार के वकील संतोष त्रिपाठी के साथ डिनर कर रहा हूं। पत्रकार विप्लव अवस्थी ने भी फेसबुक में पोस्ट जारी कर कहा है कि ये तस्वीरें दो साल पुरानी है।

संदेह बरकरार

अगर मान भी लिया जाए कि तस्वीर दो साल पुरानी है,तो सवाल उठना लाजमी है कि क्या दो साल पहले यानी 2015 में मनोज तिवारी बीजेपी का हिस्सा नहीं थे या फिर कपिल मिश्रा आम आदमी पार्टी में नहीं थे। क्या इस सवाल का जवाब कपिल मिश्रा और बीजेपी दे पाएगी।

कपिल मिश्रा ने लगाया है केजरीवाल पर आरोप

आपको बता दें कि दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने सीएम अरविन्द केजरीवाल पर दिल्ली सरकार के ही मंत्री सत्येन्द्र जैन से 2 करोड़ रुपये अवैध कैश लेने का आरोप लगाया है। इस आरोप को लगाने से ही पहले सीएम ने कपिल मिश्रा को मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था। कपिल मिश्रा के आरोपों के बाद आप ने उन्हें पार्टी से भी बाहर का रास्ता दिया दिया था। अब कपिल मिश्रा आप नेताओं के विदेश दौरे की जानकारी को सार्वजनिक करने की मांग को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे हैं। और आज इस हड़ताल का तीसरा दिन है।

You May Also Like

English News