स्कूल में नहीं मिला बेटे को एडमिशन, तो परेशान होकर पिता ने खुद को लगाई आग

बंगलूरू में एक मजबूर पिता ने खुद पर पेट्रोल डालकर आत्महत्या कर ली। पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर रितेश कुमार ने स्कूल में बेटे के एडमिशन के लिए आदित्य बजाज नाम के एक एजेंट को ढाई लाख रुपए दिए थे। एजेंट ने रितेश से वायदा किया था कि वह उनके सात साल के बेटे का एडमिशन एक अच्छे स्कूल में करवाएगा। स्कूल में नहीं मिला बेटे को एडमिशन, तो परेशान होकर पिता ने खुद को लगाई आग
लेकिन ऐसा न होने पर पिता ने अपने पैसे वापस मांगे तो एजेंट ने आधी रकम वापस कर दी और बाकी बचे पैसों को कुछ दिनों बाद लौटाने का वायदा किया। कई दिन बीत जाने के बाद भी पैसे न मिलने पर पिता ने खुद को ठगा हुआ महसूस किया। परेशान पिता ने एजेंट के जेपी नगर स्थित ऑफिस पहुंचकर खुद को आग लगा ली।

जेपी नगर पुलिस के मुताबिक, कुमार ने खुद को आग लगाने से पहले एजेंट को पैसे वापस करने के लिए धमकी भी दी। इस दौरान एजेंट ने कुमार को बचाने की भी कोशिश की। बजाज पर आईपीसी की धारा 306 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस यह भी जांच कर रही है कि उसने अन्य अभिभावकों के साथ भी इस तरह की ठगी की है या नहीं। 

You May Also Like

English News