हनीप्रीत ने खोला पंचकूला हिंसा का राज, ऐसे कराए दंगे… देखे वीडियों

गिरफ्तारी के बाद से अपने तेवर दिखा रही रामरहीम की कथित बेटी हनीप्रीत पुलिस के सख्ती बरतने अब सच्चाई उगलने लगी है… देशद्रोह और हिंसा फैलाने की आरोपी हनीप्रीत ने 6 दिन की पुलिस रिमांड में कई बड़े राज खोले हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हनीप्रीत ने 25 अगस्त को गुरमीत राम रहीम को बलात्कार का दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला में भड़की हिंसा में अपनी भूमिका को पुलिस के सामने स्वीकार कर लिया है। बताया जा रहा है कि हनीप्रीत ने पुलिस के सख्ती करने पर ये माना कि पंचकूला में हिंसा फैलाने में उसका और राम रहीम का अहम रोल है।

हनीप्रीत ने खोला पंचकूला हिंसा का राज, ऐसे कराए दंगे… देखे वीडियोंराम रहीम की करीबी रही हनीप्रीत 6 दिन पुलिस रिमांड पर रही। शुरूआत में पुलिस कहती रही कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रही लेकिन जब हनीप्रीत से सख्ती के साथ पूछताछ करना शुरू किया तो उसने पंचकूला हिंसा में खुद के शामिल होने की बात को माना लिया है। साथ ही हनीप्रीत के लैपटॉप से नक्शे और राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हिंसा भड़काने से संबंधित जानकारी भी हासिल हुई हैं। बलात्कार मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा की घटनाओं के सिलसिले में वांछित 43 लोगों की सूची में हनीप्रीत का नाम सबसे ऊपर है। इस हिंसा में 35 से ज्यादा लोगों की जान गई थी।

हनीप्रीत ने कहा था- बाबा को सजा हुई तो दुनिया से हिन्दुस्तान का नक्शा मिटा देंगे

रिमांड खत्म होने पर मंगलवार को एसआईटी ने उसे और सुखदीप कौर को पंचकूला कोर्ट में पेश किया। एसआईटी ने कहा- हनीप्रीत ने ही देश विरोधी वीडियो बनाकर वायरल किया था। इस वीडियो में नारेबाजी की जा रही थी कि बाबा को सजा हुई तो हिंदुस्तान का नक्शा दुनिया से मिटा देंगे।रिमांड खत्म होने पर मंगलवार को एसआईटी ने उसे और सुखदीप कौर को पंचकूला कोर्ट में पेश किया। एसआईटी ने कहा- हनीप्रीत ने ही देश विरोधी वीडियो बनाकर वायरल किया था। इस वीडियो में नारेबाजी की जा रही थी कि बाबा को सजा हुई तो हिंदुस्तान का नक्शा दुनिया से मिटा देंगे।

कोर्ट ने SIT ने कहा कि वायरल वीडियो के सबूत हनीप्रीत के मोबाइल में हैं और मोबाइल सुखदीप के रिश्तेदार के घर बिजनौर में। पंचकूला में दंगा कराने के लिए हनीप्रीत के मार्क किए मैप लैपटॉप में हैं, अब ये सब बरामद करना है।एसआईटी ने ये भी कहा कि मोबाइल और लैपटॉप सिरसा डेरे में छिपाए गए हैं, जिसमें दंगों के लिए बनाए गए नक्शे और मेंबरों की ड्यूटी का जिक्र है।

रामरहीम के मैनेजर का खुलासा: दंगों के लिए हुआ था ब्लैक मनी का इस्तेमाल

राम रहीम के पीए राकेश ने पुलिस को बताया कि सिरसा डेरे में 17 अगस्त को हुई मीटिंग में वह शामिल था। उसने बताया कि पंचकूला में दंगे की फंडिंग ब्लैक मनी से की गई थी।इस साजिश पर होने वाले खर्च का अनुमान लगाया गया और फिर फर्जी डॉक्युमेंट्स तैयार कराए गए, ताकि ब्लैक मनी को व्हाइट किया जा सके।राकेश को कोर्ट ने ज्यूडिशियल रिमांड पर भेज दिया है। हनीप्रीत के कहने पर बनाए जाली डॉक्युमेंट्स राजस्थान के गुुरुसर मोडिया में मौजूद हैं।

देखें वीडियो-

loading...

You May Also Like

English News