हरियाणा: खिलाड़ियों के पैसे लेने के निर्णय पर फिलहाल रोक

हरियाणा सरकार का हाल ही में जारी किया हुआ एक सर्कुलर इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ था जिसे अब जाकर हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने वापस ले लिया है. मनोहर लाल खट्टर ने हाल ही में प्रदेश भर के एथलीटों की कमाई का 33 प्रतिशत हिस्सा सरकार को देने का आदेश दिया था. हरियाणा सरकार का हाल ही में जारी किया हुआ एक सर्कुलर इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ था जिसे अब जाकर हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने वापस ले लिया है. मनोहर लाल खट्टर ने हाल ही में प्रदेश भर के एथलीटों की कमाई का 33 प्रतिशत हिस्सा सरकार को देने का आदेश दिया था.   हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि उन्होंने खेल मंत्रालय इस सर्कुलर से जुड़ी फाइल मंगाई है. जब तक वह इस पर कोई फैसला नहीं करते तब तक इस नोटिफिकेशन को होल्ड पर रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रदेश को अपने एथलीटों पर बहुत गर्व है और वह उन्हें भरोसा दिलाते हैं कि हर पहलू पर गौर किया जाएगा.' बता दें, राज्य सरकार के खेल डिपार्टमेंट ने 30 अप्रेल को एक सर्कुलर जारी किया था जिसके अनुसार हरियाणा सरकार खिलाड़ियों से पैसा लेना चाहती जो राज्य सरकार के खेल विभाग में खेलों को बढ़ावा देने के मकसद से लिया गया है.   इस मामले में कई खिलाड़ियों की प्रतिक्रियाएं सामने आई थी, जिसमें हाल ही में कामनवेल्थ खेलों में गोल्ड मेडलिस्ट रही गीता फोगट ने कहा है कि "अगर यह फैसला देश के क्रिकेटरों के लिए होता तो शायद समझ में आता, अब एथलीटों की फीस ही कितनी है जो उनकी कमाई ही कितनी है जो सरकार 33 प्रतिशत हिस्सा उनके हिस्से में मांग रही है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि उन्होंने खेल मंत्रालय इस सर्कुलर से जुड़ी फाइल मंगाई है. जब तक वह इस पर कोई फैसला नहीं करते तब तक इस नोटिफिकेशन को होल्ड पर रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रदेश को अपने एथलीटों पर बहुत गर्व है और वह उन्हें भरोसा दिलाते हैं कि हर पहलू पर गौर किया जाएगा.’ बता दें, राज्य सरकार के खेल डिपार्टमेंट ने 30 अप्रेल को एक सर्कुलर जारी किया था जिसके अनुसार हरियाणा सरकार खिलाड़ियों से पैसा लेना चाहती जो राज्य सरकार के खेल विभाग में खेलों को बढ़ावा देने के मकसद से लिया गया है. 

इस मामले में कई खिलाड़ियों की प्रतिक्रियाएं सामने आई थी, जिसमें हाल ही में कामनवेल्थ खेलों में गोल्ड मेडलिस्ट रही गीता फोगट ने कहा है कि “अगर यह फैसला देश के क्रिकेटरों के लिए होता तो शायद समझ में आता, अब एथलीटों की फीस ही कितनी है जो उनकी कमाई ही कितनी है जो सरकार 33 प्रतिशत हिस्सा उनके हिस्से में मांग रही है.

You May Also Like

English News