हरीश रावत बोले, मेरी खुशी से कोई परेशान है तो रहे

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कांग्रेस में गुटबाजी की हो रही चर्चा पर अपनी चुप्पी तोड़ी। कहा कि उत्तराखंड के भीतर काग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है। साथ ही यह भी जोड़ा कि मैं खुश हूं, मेरी खुशी से अगर किसी को परेशानी है तो वह परेशान रहे। 

हरीस रावत बिंदुखत्ता के जड़ सेक्टर स्थित जनता पूर्व माध्यमिक विद्यालय में पौधरोपण करने के बाद पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। पत्रकारों ने उनसे सवाल किया था कि उत्तराखंड काग्रेस में जबरदस्त गुटबाजी चल रही है। संगठन और नेता प्रतिपक्ष उनसे नाराज हैं। 

इस पर रावत ने तपाक से जवाब दिया कि उत्तराखंड काग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है। सब लोग संगठन को मजबूत बनाने को अपनी-अपनी ओर से प्रयास कर रहे हैं। मैं खुश हूं, कोई मुझसे नाराज है या उसे मुझसे कोई परेशानी है तो मैं क्या कर सकता हूं। 

यह दो टूक बात कहने के बाद वह किच्छा की ओर रवाना हो गए। इससे पूर्व विद्यालय में आयोजित सभा में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पृथ्वी का तापमान तेजी से इसलिए बढ़ रहा है क्योंकि पेड़ों का कटान नहीं रुक रहा है। इसी के चलते पानी के स्रोत कम हो रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि यदि पृथ्वी का तापमान दो प्रतिशत और बढ़ गया तो फिर यहा रहना मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने सभी से आह्वान किया कि वे अधिक से अधिक पौधरोपण कर प्रकृति को हरा-भरा बनाएं। 

इस मौके पर पूर्व सैनिक संगठन के अध्यक्ष खिलाफ सिंह दानू और उपाध्यक्ष हीरा सिंह भंडारी ने रावत को ज्ञापन देते हुए शहीद स्मारक के सुंदरीकरण के लिए राज्यसभा सासद से पांच लाख रुपये दिलाने की मांग की। 

कार्यक्रम में पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, प्रयाग दत्त भट्ट, खजान पाडे, राम बाबू मिश्रा, गिरधर बम, जीवन कबडवाल, बलवंत दानू, भुवन पाडे, बीना जोशी, प्रमोद कॉलोनी, कुंदन लाल सक्सेना, कमल दानू, बालम सिंह बिष्ट, भगवान धामी, सीमा पाठक, राधा दानू आदि मौजूद थे।

You May Also Like

English News