हर महीने 500 रुपए लगाकर आप भी बन सकते हैं अंबानी, बस करे ये आसान काम

नई दिल्ली: शेयर बाजार की बड़ी उठा-पटक से आम आदमी को काफी डर लगता है, ऐसे में कई बार लोग इसका फायदा उठाने से चूक जाते हैं या फिर नुकसान उठा लेते है।

हर महीने 500 रुपए लगाकर आप भी बन सकते हैं अंबानी, बस करे ये आसान काम

हालांकि जानकारों की मानें तो शेयर में निवेश करना काफी सरल हैं और अगर आप इनके लिए कुछ नियम और  फंडामेंटल को समझ लेते हैं तो मार्केट से हर महीने मात्र 500 रुपए लगाकर करोड़ों की कमाई करना कोई बड़ी बात नहीं है।

अब सरकार फ्री में देगी रसोई गैस, आज ही भरें छोटा सा फॉर्म

 
ऐसे हो सकती बड़ी कमाई
इंफोसिस का शेयर 1993 में 95 रुपए के स्तर पर था। अगर इस दौरान किसी शख्स ने हर महीने इस शेयर को खरीदा होता तो साल में 12 शेयर के लिए उसे कुल 4000 रुपए से ज्यादा खर्च नहीं करने पड़ते। अगर वह इंफोसिस में और निवेश न करता तो सभी डिविडेंड ( 2000 से अब तक 32 बार डिविडेंड मिला है) और बोनस इश्यू को मिलाकर उसका कुल निवेश अब तक बढ़कर 40 लाख रुपए से ज्यादा हो चुका होता।
 
2012 के दौरान सिम्फनी का शेयर 240 रुपए के स्तर पर था, यानी एक साल में 12 शेयरों के लिए करीब 3000 रुपए का निवेश। फिलहाल सिम्फनी का शेयर 2,180 रुपए के स्तर पर है यानी निवेश फिलहाल करीब 3 लाख रुपए। खास बात ये है कि 2012 के बाद कंपनी शेयरधारकों को 6 बार डिविडेंड भी दे चुकी है। खास बात यह है कि लगभग सभी दिग्गज कंपनियों का प्रदर्शन ऐसा ही रहा है।
 
अच्छे सस्ते शेयरों में करें नियमित निवेश
स्टॉक मार्केट में ऐसे शेयरों की संख्या काफी ज्यादा है, जिनकी कीमत 50 रुपए से 500 रुपए के बीच हैं। इनमें से कई शेयर ऐसे हैं जो मजबूत शेयर माने जाते हैं।
इनमें फेडरल बैंक, टाटा केमिकल्स,एमईपी इंफ्रा, कोल इंडिया, टाटा मोटर्स, आंध्रा बैंक जैसे दर्जनों शेयर शामिल हैं। मार्केट एक्सपर्ट के मुताबिक निवेशक हर महीने सीमित संख्या में ऐसे शेयर खरीद कर रख सकते हैं। 
ये रखें ध्यान
ध्यान रखें कि निवेश की जाने वाली रकम इतनी हो, जो आपके बजट या बचत किसी को भी प्रभावित न करे।आपके बजट के हिसाब से यह निवेश 500 से ज्यादा भी हो सकता है। ऐसे निवेश काफी लंबी अवधि के होते हैं, इसलिए शेयरों के चुनाव के लिए थोड़ी रिसर्च की जरूरत होगी। इसके लिए आप ब्रोकरेज हाउस की सलाह ले सकते हैं।
 
आगे जानिए, इस स्ट्रैटजी का क्या है फायदा
यह स्ट्रैटजी काफी हद तक म्युचुअल फंड की स्ट्रैटजी से मिलती जुलती है। लेकिन इन्वेस्टमेंट का फैसला आपका है तो रिटर्न भी आपको ज्यादा मिल सकता है।
महीने में एक बार खरीद करने से आपको रोज-रोज मार्केट देखने की जरूरत नहीं है और हर महीने का निवेश बजट इतना कम है कि आपको पैसे डूबने का भी डर नहीं होगा।
अगर आप बेहतर स्टॉक्स में खरीददारी कर रहे हैं, तो पैसे डूबने की संभावनाएं काफी कम होंगी। कम बजट होने के कारण आपको अपना फंड निकालने की जरूरत भी नहीं होगी, ऐसे में आप मार्केट में अपने निवेश का पूरा फायदा उठा सकेंगे।
 
क्या है लंबी अवधि के निवेश का फायदा
लंबी अवधि के निवेश का निवेशकों का काफी फायदा होता है। इस दौरान कीमतों में बढ़त का फायदा तो मिलता ही है, वहीं डिविडेंड और बोनस जैसे कई फायदे भी निवेशकों को मिल जाते है। साथ ही लंबी अवधि के निवेश से टैक्स छूट भी पा सकते हैं।
आगे जानिए, क्या है इस स्ट्रैटजी से जुड़े रिस्क
मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक शेयर कई बार अपने स्तर पर काफी समय तक बने रहते हैं। ऐसे में आपमें धैर्य नहीं है तो आप पूरा फायदा उठाने से चूक सकते हैं।
आप इस तरह का निवेश अपने बच्चों या फिर लंबी अवधि के गोल के लिए कर सकते हैं। कोशिश करें कि इन छोटे निवेश में लगातार निवेश बनाए रहें, क्योंकि रकम छोटी होने के कारण शेयर में गिरावट पर नुकसान काफी कम होगा।
 

You May Also Like

English News