हवाई जहाज में थी टीम इंडिया तो कुंबले ने दिया इस्तीफा, ऐसे चला पता

चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान से फाइनल गंवाने के बाद टीम इंडिया खुद को संभालने में लगी थी. टीम के वेस्टइंडीज दौरे के मद्देनजर खिलाड़ी रिलैक्स हो रहे थे. मंगलवार को लंदन से वेस्टइंडीज की उड़ान से पहले तक टीम इंडिया को पता नहीं थी कि कोच अनिल कुंबले उनके साथ नहीं जा रहे. दूसरों की तरह खिलाड़ियों को भी मालूम था कि कुंबले लंदन में 22 और 23 जून की आईसीसी मीटिंग अटेंड करने के बाद टीम से जुड़ेंगे.चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान से फाइनल गंवाने के बाद टीम इंडिया खुद को संभालने में लगी थी. टीम के वेस्टइंडीज दौरे के मद्देनजर खिलाड़ी रिलैक्स हो रहे थे. मंगलवार को लंदन से वेस्टइंडीज की उड़ान से पहले तक टीम इंडिया को पता नहीं थी कि कोच अनिल कुंबले उनके साथ नहीं जा रहे. दूसरों की तरह खिलाड़ियों को भी मालूम था कि कुंबले लंदन में 22 और 23 जून की आईसीसी मीटिंग अटेंड करने के बाद टीम से जुड़ेंगे.  दरअसल, त्रिनिडाड के लिए रवाना हुई टीम इंडिया का विमान सेंट लूसिया में लैंड किया. खिलाड़ियों ने जैसे ही अपने-अपने फोन ऑन किए, तो उन्हें पता चला कि कुंबले ने इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक, इस खबर से खिलाड़ी सन्न रह गए थे. उन्हें, तो तब तक पता था कि कुंबले आईसीसी की मीटिंग के बाद पोर्ट ऑफ स्पेन में 25 जून को दूसरे वनडे से पहले टीम से जुड़ेंगे.  इसके बाद ट्विटर पर किए गए कुंबले के खुलासे से भी खिलाड़ी हैरान रहे. जिसमें उन्होंने लिखा था कि कप्तान विराट को उनकी शैली पसंद नहीं थी और वह हेड कोच के तौर पर उनका बने रहना देखना नहीं चाहते थे. इसके बाद लगातार इस घटनाक्रम से कई वाकए जुड़ते जा रहे हैं. यह भी मामला सुर्खियों में आया कि अगर कुंबले को कोच पद पर एक्सटेंशन मिलता, तो कोहली कप्तानी तक छोड़ देते .

दरअसल, त्रिनिडाड के लिए रवाना हुई टीम इंडिया का विमान सेंट लूसिया में लैंड किया. खिलाड़ियों ने जैसे ही अपने-अपने फोन ऑन किए, तो उन्हें पता चला कि कुंबले ने इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक, इस खबर से खिलाड़ी सन्न रह गए थे. उन्हें, तो तब तक पता था कि कुंबले आईसीसी की मीटिंग के बाद पोर्ट ऑफ स्पेन में 25 जून को दूसरे वनडे से पहले टीम से जुड़ेंगे. 

इसके बाद ट्विटर पर किए गए कुंबले के खुलासे से भी खिलाड़ी हैरान रहे. जिसमें उन्होंने लिखा था कि कप्तान विराट को उनकी शैली पसंद नहीं थी और वह हेड कोच के तौर पर उनका बने रहना देखना नहीं चाहते थे. इसके बाद लगातार इस घटनाक्रम से कई वाकए जुड़ते जा रहे हैं. यह भी मामला सुर्खियों में आया कि अगर कुंबले को कोच पद पर एक्सटेंशन मिलता, तो कोहली कप्तानी तक छोड़ देते .

You May Also Like

English News