हिंसा प्रभावित जिलों में प्रशासन सख्ती से काम कर रहा है: सुशील मोदी

बिहार के सात जिलों में सांप्रदायिक हिंसा के बाद हालात सामान्य बनाने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं. सूबे के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि सांप्रदायिक हिंसा की वजह से राज्य में जहां कहीं भी कानून व्यवस्था की समस्या पैदा हुई है, वहां पर प्रशासन सख्ती से काम कर रहा है.हिंसा प्रभावित जिलों में प्रशासन सख्ती से काम कर रहा है: सुशील मोदी

बिहार में भड़की सांप्रदायिक हिंसा के मुद्दे पर जिस तरीके से आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार सरकार पर हमला बोला, उससे तिलमिलाए सुशील मोदी ने पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश में अमन और शांति से ज्यादा वोट बैंक की चिंता सता रही है. बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा कि प्रदेश में हालात सामान्य हो जाएं, इसके लिए तेजस्वी यादव अपनी भूमिका का समुचित निर्वहन नहीं कर रहे हैं. उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पक्ष और विपक्ष की राजनीति से ज्यादा महत्वपूर्ण है समाज में सौहार्द कायम रखना.

मालूम हो कि बिहार में पिछले 15 दिनों में भागलपुर, औरंगाबाद, समस्तीपुर, मुंगेर, शेखपुरा, नालंदा और नवादा में सांप्रदायिक हिंसा की घटना घटी, जिसको लेकर नीतीश कुमार सरकार के ऊपर बड़ा सवाल खड़ा हो गया कि आखिर वो ऐसी घटनाओं को रोकने में सफल क्यों नहीं हो रहे हैं?

वहीं, दूसरी ओर आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी पर निशाना साधते हुए सुशील मोदी ने कहा कि 90 के दशक में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का रथ यात्रा के दौरान गिरफ्तार होना और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के हजारों करोड़ का चारा घोटाला करना, उनकी नजर में एक ही बात है और दोनों घटनाओं में कोई फर्क नहीं है. 

दरअसल, शिवानंद तिवारी ने दो दिन पहले बीजेपी पर आरोप लगाया था कि जब लालू प्रसाद यादव को रांची से दिल्ली भेजा जा रहा था, तो झारखंड सरकार ने हवाई जहाज की व्यवस्था नहीं की और ट्रेन के जरिए उन्हें दिल्ली भेज दिया, जबकि लालू प्रसाद यादव ने जब 90 के दशक में रथ यात्रा निकाल रहे लालकृष्ण आडवाणी को समस्तीपुर में गिरफ्तार कराया था, तो उनको सम्मान पूर्वक हेलिकॉप्टर से मसानजोर डाक बंगला भिजवाया था और उसके बाद रोजाना आडवाणी के कुशलता के बारे में पूछताछ किया करते थे.

उप मुख्यमंत्री मोदी ने कहा कि लालू को देश के सर्वोत्तम राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में पूरी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रांची से दिल्ली ले जाया गया, मगर शिवानंद तिवारी को लगता है कि झारखंड सरकार ने उन्हें प्रताड़ित किया है. उधर, शनिवार देर रात बिहार पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत चौबे को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने सांप्रदायिक हिंसा भड़काने के आरोपी अर्जित शाश्वत को पटना से लेकर भागलपुर के लिए रवाना हो गई है. माना जा रहा है कि पुलिस उनको आज ही भागलपुर कोर्ट में पेश करेगी. उनके ऊपर 17 मार्च को भागलपुर में एक जुलूस के दौरान सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का आरोप है.

You May Also Like

English News