हिमाचल वोटिंग: प्रदेश में अब तक 64.8% हुआ मतदान, वोटिंग अब भी जारी

हिमाचल विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग जारी है। सूबे के 50 लाख मतदाता 68 सीटों पर खड़े 337 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। प्रदेश में शाम चार बजे तक 64.80% मतदान दर्ज किया गया है। पोलिंग बूथों पर सुबह से मतदाताओं की भारी भीड़ उमड़ी है। अभी तक शांतिपूर्ण ढंग से मतदान प्रक्रिया जारी है। मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ था। चुनाव आयोग ने 399 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया है। सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं।हिमाचल वोटिंग: प्रदेश में अब तक 64.8% हुआ मतदान, वोटिंग अब भी जारीऐसे करोड़ों के नोट बिक रहे कौड़ी के भाव, एक टन की कीमत 128 रुपये
वहीं कई जगह EVM खराब होने की शिकायतें मिल रही हैं। धूमल, वीरभद्र और अनुरान ठाकुर ने वोट डाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मतदाताओं से रिकॉर्ड वोटिंग की अपील की है। वहीं धूमल ने 60 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया है।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेंद्र राजपूत ने बताया कि धर्मशाला में सबसे ज्यादा 12 और झंडूता में सबसे कम दो प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। किसी भी विषम परिस्थिति से निपटने के लिए एक हेलीकॉप्टर को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

चुनाव के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए 80 फीसदी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। होमगार्ड और हिमाचल पुलिस के जवानों को भी लगाया गया है। चुनाव प्रबंधन के लिए पहले ही करीब 37 हजार कर्मचारियों को मतदान केंद्रों पर भेजा जा चुका है।

80 फीसदी केंद्रीय अर्ध सैनिक बलों की तैनाती

इसके अलावा दूसरे राज्यों की सीमा से लगते क्षेत्रों में शत प्रतिशत अर्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई है। संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। साथ ही सेक्टर मजिस्ट्रेट व ऑब्जर्वर चुनाव गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं।

इन दस्तावेजों से कर सकते हैं मतदान 
वोटर मतदान करने के लिए 12 तरह के दस्तावेजों को प्रस्तुत कर सकता है। इसमें पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, सरकारी अर्द्ध सरकारी, सार्वजनिक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले सेवा पहचान पत्र, बैंकों, डाकघरों से जारी की गई पासबुक, पैन कार्ड, आरजीआई और एनपीआर द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन तंत्र की ओर से जारी प्रमाणित फोटो मतदाता पर्ची, सांसदों और विधायकों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र और आधार कार्ड शामिल हैं।

वहीं पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर मतदाताओं से वोट डालने की अपील की है। उन्होंने लिखा है कि आज देवभूमि हिमाचल प्रदेश में मतदान का दिन है। मेरी विनती है कि सभी मतदाता लोकतंत्र के महापर्व में भाग लें और भारी संख्या में मतदान करें। 

खराब हुईं EVM मशीनें, बिना वोट डाले लौटे मतदाता
हिमाचल विस चुनावों में कई पोलिंग बूथों पर ईवीएम मशीनें खराब होने पर अभी तक वोटिंग शुरू नहीं हो पाई है। ऊना जिले के 34 नंबर बूथ जलग्रां में ईवीएम मशीन खराब हो गई। लोग काफी देर तक यहां इंतजार करते रहे। मंडी के बल्ह के भंगरोटू में मशीन खराब है। मतदान अभी शुरू नहीं हुआ है।

चंबा के रावमापा कोल्हड़ी में मशीन खराब है। सिरमौर के सेर मनोण, चाखल डूंगीसेर में ईवीएम मशीनो में दिक्कत आई है। नाहन विस में 18 मशीनें खराब हैं। यहां अभी मतदान शुरू नहीं हुआ है। सोलन के दून के कुठाड़ व जाडला और कसौली के पनूह मतदान केंद्र में ईवीएम खराब है।

भरमौर में 5 वीवीपेट, चुराह में 2, भटियात में 3 डलहौजी में 1 वीवी पैट मशीन में दिक्कत आई है। जिला निर्वाचन अधिकारी सुदेश मोख्टा ने कहा कि दूसरी व्यवस्था जल्द की जा रही है। अर्की के चंबयाल बूथ पर ईवीएम मशीन खराब है। लाहौल के गोंदला पोलिंग बूथ में ईवीएम खराब होने से अभी तक वोटिंग प्रक्रिया शुरू नहीं हो सकी है। लोग सुबह 8 बजे ही वोट करने पहुंचे लेकिन वापस लौट गए।

नयना देवी में तीन, सदर में एक ओर झंडूता में 3 ईवीएम मशीन खराब है। ज्‍वालामुखी में आदर्श मतदान केंद्र बूथ-42 में मशीन कि खराबी के चलते वोटर नाराज हैं। हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र चमनेड़ और लंबलू में ईवीएम मशीन खराब है। ऑफिसर ने यहां नई ईवीएम मशीन मंगवाई है।

भटियात विधानसभा क्षेत्र के टिकरी व घटासनी पोलिंग वूथ पर ईवीएम खराब है। वलेरा पोलिंग वूथ पर ईवीएम नहीं चल पाई। सिस्सू में भी ईवीएम मशीन खराब है। गोंदला में दो घंटे बाद 10 बजे वोटिंग शुरू पाई। 

You May Also Like

English News