हीराखंड एक्सप्रेस हादसे में 32 की मौत, इस हादसे पर पीएम मोदी ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि रेल मंत्रालय स्थिति पर पूरी निगाह रखे हुए है। केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल ने भी इस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा है इसकी जांच से सभी तथ्यों का खुलासा हो जाएगा। वहीं एक अन्य केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि उन्होंने इस बाबत रेल मंत्री से बात की है और उन्होंनेे सभी घायलों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने का आश्वासन भी दिया है।

हीराखंड एक्सप्रेस हादसे में 32 की मौत, इस हादसे पर पीएम मोदी ने जताया दुख

अलिखेश ने मुलायम सिंह के साथ अच्छा नहीं किया

बचाव कार्य जोरों पर

रेलवे के अतिरिक्त डीजी पीआर अनिल सक्सेना ने इस हादसे पर गहरा दुख जताया है। उन्होंने बताया है कि यह हादसा देर रात करीब 11:20 बजे हुआ। इस हादसे के कारण ट्रेन यातायात भी प्रभावित हुआ है और कई ट्रेनों को डायवर्ट किया गया है। अभी बचाव कार्य जोरों पर है। उनके मुताबिक हादसे केे कारण का फिलहाल कुछ पता नहींं चला है, जांच के बाद ही यह सामने आ पाएगा। उन्होंने इस हादसे के पीछे किसी तरह की आशंका से इंकार से भी इंकार नहीं किया है। मौके पर एनडीआरएफ की एक टीम भी भेज दी गई है। हादसे के बाद ट्रेन के 12 सुरक्षित डिब्बों को संभलपुर के रास्ते भुवनेश्वर के लिए रवाना कर दिया गया। इसके अलावा कई ट्रनों के रूट में भी बदलाव किए गए हैं।

मुआवजे का एलान

रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन भी मौके पर पहुंच रहे हैं। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को दो लाख रुपये और घायलों को पचास हजार रुपये देेने का एलान किया है। रेल मंत्री ने भी इस हादसे के पीछे किसी तरह की आतंकी साजिश होने से भी इंकार नहीं किया है।

कुनेरु स्टेशन के पास हादसा

प्राप्त सूचना के अनसुार, यह ट्रेन शाम 3 बजे जगदलपुर से राजधानी भुवनेश्वर के लिए निकली थी और देर रात करीब 11:30 बजे ओडिशा के रायगढ़ से 35 किलोमीटर दूर विजयनगरम के कुनेरू स्टेशन के पास दुघटनाग्रस्त हो गई। इंजन के साथ लगेज वैन, दो सामान्य कोच, दो स्लीपर कोच, एक एसी थ्री कोच और एक सेकंड एसी कोच भी पटरी से उतर गए।’

राहत-बचाव कार्य जारी

रेलवे की रिलीफ ट्रेन मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य में जुट गई है। रेल मंत्रालय के मुताबिक, मेडिकल रिलीफ ट्रेन मौके पर भेज दी गई है। बचाव और इलाज के सभी हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। जीआरपी सूत्रों के अनुसार मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। घटना के बाद यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। घटना की जानकारी मिलने के बाद 3 रिलीफ ट्रेन रायगढ़ा, संबलपुर और विशाखापट्टनम से रवाना हुई। यह घटना ओडिशा में रायगढ़ा से 30 किमी दूर आंध्रप्रदेश सीमा के पास हुई है।

रेलवे ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

  • रेलवे ने विशाखापत्तनम से पांच हेल्प लाइन नंबर जारी किया है- 83003, 83005, 83006, BSNL LAND LINE NO. 0891-2746344, 0891-2746330।
  • विजयानगरम के लिए हेल्प लाइन नंबर- RLY NO. 83331, 83332, 83333, 83334 BSNL LAND LINE: 08922-221202, 08922-221206।मोबाइल नंबर. 08500358610, 08500358712
  • रायगढ़ा के लिए हेल्पलाइन नंबर, बीएसएनएल लैंडलाइन नंबर 06856-223400, 06856-223500, बीएसएनएल मोबाइल नंबर 09439741181, 09439741071 एयरटेल 07681878777

गौरतलब है कि इससे पहले काठगोदाम से जैसलमेर आ रहीं रानीखेत एक्सप्रेस 15014 के दस डिब्बे शनिवार रात थयात हमीरा और जैसलमेर स्टेशन के बीच पटरी से उतर गये थे। हादसे में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई थी। ट्रेन के सभी यात्रियों को अन्य टेन से जैसलमेर भेज दिया गया था।

 

You May Also Like

English News