हीरो इंटरकांटिनेंटल कप की मेज़बानी करेगा भारत

 मुंबई का फुटबॉल एरिना 1 जून से 10 जून तक चलने वाले हीरो इंटरकांटिनेंटल कप की मेजबानी करेगा. जिसमे भारतीय फुटबाल टीम टूर्नामेंट के शुरूआती चरण में दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और चीनी ताइपे से भिड़ेगी. योजना के अनुसार यह सालाना टूर्नामेंट होगा और इसमें अफ्रीकी फुटबाल परिसंघ का प्रतिनिधित्व दक्षिण अफ्रीका, ओसनिया से न्यूजीलैंड और एएफसी से चीनी ताइपे के रूप में होगा.स्पोर्ट्स डेस्क: मुंबई का फुटबॉल एरिना 1 जून से 10 जून तक चलने वाले हीरो इंटरकांटिनेंटल कप की मेजबानी करेगा. जिसमे भारतीय फुटबाल टीम टूर्नामेंट के शुरूआती चरण में दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और चीनी ताइपे से भिड़ेगी. योजना के अनुसार यह सालाना टूर्नामेंट होगा और इसमें अफ्रीकी फुटबाल परिसंघ का प्रतिनिधित्व दक्षिण अफ्रीका, ओसनिया से न्यूजीलैंड और एएफसी से चीनी ताइपे के रूप में होगा.  दक्षिण अफ्रीका फीफा विश्व कप के पिछले तीन संस्करणों में भाग ले चुकी है जबकि न्यूजीलैंड ने अब तक दो बार विश्व कप में हिस्सा लिया है, दोनों टीमों ने आखिरी बार 2010 फीफा विश्व में हिस्सा लिया था. सभी प्रतिभागी टीमों के संबंधित फुटबाल संघ अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) के साथ हुए समझौते के अनुसार टूर्नामेंट में अपनी पहले दर्जे की टीमें भेजेंगे.   हर टीम एक दूसरे से एक एक बार खेलेगी, जिसके बाद शीर्ष दो टीमें फाइनल में पहुंचेंगी, यह टूर्नामेंट भारत की एएफसी एशिया कप 2019 (संयुक्त अरब अमीरात) की तैयारियों को मजबूती देने के लिये आयोजित किया जा रहा है जो आठ वर्षों में महाद्वीपीय चैम्पियनशिप के लिये दूसरा क्वालीफिकेशन हैं और ओवरआल यह चौथा मौका है. आपको बता दें कि पिछली बार यह मौका 2011 में दोहा में मिला था.

दक्षिण अफ्रीका फीफा विश्व कप के पिछले तीन संस्करणों में भाग ले चुकी है जबकि न्यूजीलैंड ने अब तक दो बार विश्व कप में हिस्सा लिया है, दोनों टीमों ने आखिरी बार 2010 फीफा विश्व में हिस्सा लिया था. सभी प्रतिभागी टीमों के संबंधित फुटबाल संघ अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) के साथ हुए समझौते के अनुसार टूर्नामेंट में अपनी पहले दर्जे की टीमें भेजेंगे. 

हर टीम एक दूसरे से एक एक बार खेलेगी, जिसके बाद शीर्ष दो टीमें फाइनल में पहुंचेंगी, यह टूर्नामेंट भारत की एएफसी एशिया कप 2019 (संयुक्त अरब अमीरात) की तैयारियों को मजबूती देने के लिये आयोजित किया जा रहा है जो आठ वर्षों में महाद्वीपीय चैम्पियनशिप के लिये दूसरा क्वालीफिकेशन हैं और ओवरआल यह चौथा मौका है. आपको बता दें कि पिछली बार यह मौका 2011 में दोहा में मिला था. 

You May Also Like

English News