बाजार में तो बहुत बार खाया होगा अपने, अब ये धनिया स्पेशल मठरी भी खा कर देख लो

आपने होटल में या घर में अजवायन वाली मठरी जरूर खाई होगी। लेकिन आजजो मठरी हम आपको बनाना सिखाएंगे उसे आपने शायद ही कभी घर पर ट्राई किया होगा। यह स्पेशल मठरी सामान्य मठरी के मुकाबले में काफी अलग होगी है। इसमें हरी धनिया की जगह पालक या मेथी के पत्ते भी मिलाकर बना सकते है। इस हटकर और मजेदार मठरी के मजे लें।बाजार में तो बहुत बार खाया होगा अपने, अब ये धनिया स्पेशल मठरी भी खा कर देख लो

सामग्री – 

  • मैदा – 500 ग्राम
  • तेल – 150 ग्राम
  • जीरा – एक छोटा चम्मच
  • काली मिर्च – 20 (कूट हुई)
  • अजवायन – 1 छोटा चम्मच
  • हरा धनियां – 100 ग्राम
  • नमक – स्वादानुसार
  • तेल – आवश्‍यकतानुसार

धनिया स्पेशल मठरी बनाने की विधि –

  • हरी धनिया को धुलकर बारीक काट लें।  मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकाल लें।
  • नमक, जीरा, अजवायन, काली मिर्च, बारीक कटी धनियां और तेल डाल कर अच्छी तरह मिला लें।
  • धनियां को पीस कर भी मिला सकते हैं। पीस कर बनाने में स्वाद तो लगभग एक ही रहता है लेकिन मठरी का रंग गहरा और अलग हो जाता है।
  • आटे की मात्रा का चौथाई पानी लें (आधा कप से थोड़ा ज्यादा पानी लेकर), पानी को हल्का गुनगुना करें, गुनगुने पानी की सहायता से सख्त आटा गूंथ लें। गुंथे हुए आटे को सेट करने के लिये 20 मिनिट के लिए ढककर रख दें।
  • आटा सेट हो जाने पर  मठरी बनाना शुरू करें। गुंथे हुए आटे से बराबर की छोटी छोटी लोई बना लें, एक लोई उठाएं,  हथेली पर रखें और दूसरे हाथ से दबा कर बड़ा कर लें। अधिक पतला न करें। सारी लोई को इसी तरह दबा कर मठरी तैयार कर लें।
  • भारे तले की कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में 10-15 जितनी भी मठरी आ सके, डालिए,  मध्‍यम और धीमी आंच पर मठरियां हल्‍की गुलागी होने तक तल लें।
  • सादी मठरी की अपेक्षा इन मठरियों के तलने में समय अधिक लगता है, एक बार की मठरी तलने में 12-14 मिनिट तक लग जाते हैं।
  • तली हुई मठरी निकाल कर थाली या प्लेट पर रखि लें।  बची हुई मठरियां फिर से डालें और तलें, सारी मठरी तल कर इसी तरह तैयार कर लें।
  • अधिक स्वाद के लिए घर का बना हुआ चाट मसाला मठरियों के ऊपर डालकर मिला दीजिए।
  • खस्ता कुरकुरी मठरी तैयार हैं, इन्हें गरमा गरम चाय के साथ खाएं और बची हुई मठरियों को ठंडा करके एअर टाइट कंटेनर में बन्द करके रख लें।
  • इसे आप 1 महिने तक रख सकते हैं। जब मन हो निकालें और खाएं।

You May Also Like

English News