10वीं के बाद क्या करें ? पढ़ें ये पूरी खबर…

10वीं कक्षा के नतीजे जारी होने के साथ ही छात्र विषय चयन को लकर भी जागरूक हो गए है. कई छात्र अपनी रुचि के अनुसार विषय का चयन कर लेते है, वहीं कई छात्र विषय का चयन आसानी से नहीं कर पाते है. ऐसे में आपके लिए ये खबर काफी लाभदायक हो सकती है. आपने अगर 10वीं पास कर ली है और आप आगे विषय का चयन करने में सक्षम नहीं है, तो आप हमारे द्वारा बताए जा रहे कोर्सेस पर अवश्य ध्यान दें…10वीं कक्षा के नतीजे जारी होने के साथ ही छात्र विषय चयन को लकर भी जागरूक हो गए है. कई छात्र अपनी रुचि के अनुसार विषय का चयन कर लेते है, वहीं कई छात्र विषय का चयन आसानी से नहीं कर पाते है. ऐसे में आपके लिए ये खबर काफी लाभदायक हो सकती है. आपने अगर 10वीं पास कर ली है और आप आगे विषय का चयन करने में सक्षम नहीं है, तो आप हमारे द्वारा बताए जा रहे कोर्सेस पर अवश्य ध्यान दें...  कॉमर्स (COMMERCE)...    अगर आप पढ़ने में सामान्य है, तो उस स्थिति में यह विषय आपके लिए काफी लाभदायक साबित होगा. कॉमर्स की सहायता से आप आगे जाकर चार्टर्ड एकाउंटेंसी (सीए), कंपनी सचिव (सीएस), बीकॉम इन अकाउंटिंग एंड कॉमर्स, बीबीए एलएलबी (BBA LLB), बीबीए, बीएमएस आदि विषयों में करियर बना सकते है. 10वीं के बाद आपको कॉमर्स में अकाउंट,  और व्यावसायिक अध्ययन, अर्थशास्त्र समेत हिंदी-इंग्लिश जैसे कॉमन विषय भी मिलेंगे.   आर्ट्स (ARTS)...    आर्ट्स सभी विषयों में थ्योरिटिकल सब्जेक्ट माना जाता है. आर्ट्स में आप भूगोल, इतिहास, अर्थ शास्त्र, राजनीती शास्त्र आदि विषयों में करियर बना सकते है. इसी के साथ आप कला के क्षेत्र में जैसे कि म्यूजिक, इवेंट मैनेजमेंट, पेंटिंग, पेंटिंग और जर्नलिज्म आदि में भी करियर को गति प्रदान कर सकते है.   गणित (MATHEMATICS)...    गणित सबसे कठिन विषय में से एक हैं. इस विषय में करियर बनाने से अधिकतर लोग कतराते हैं. लेकिन आप पढ़ने में काफी अच्छे है, तो आप गणित में करियर बना सकते हैं. गणित विषय लेकर आप आगे जाकर इस क्षेत्र के अंतर्गत इंजीनियरिंग, वैज्ञानिक, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, रोबोटिक्स, रोनॉटिकल्स आदि में करियर को नई उड़ान दे सकते हैं. 10 वीं के बाद आपको गणित विषय में गणित समेत फिजिक्स, केमिस्ट्री और हिंदी-इंग्लिश जैसे कॉमन विषय भी पढ़ने को मिलेंगे.   जीव विज्ञान(BIOLOGY)...    विज्ञान के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए अवसरों की कमी नहीं है. इसके लिए आवश्यक है उच्च स्तर की मेहनत. बायोलॉजी के अंतर्गत फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय आते है. साथ ही हिंदी और इंग्लिश जो कि कॉमन सब्जेक्ट है, वे भी आते है. बायोलॉजी की सहायता से आप चिकित्सा के क्षेत्र में काफी अच्छा नाम कमा सकते हैं. इसके अंतर्गत आप डॉक्टर, हॉस्पिटल मैनेजमेंट, बायो केमिस्ट्री, केमिकल, डिफेन्स, रिसर्चर, वैज्ञानिक और शिक्षा के क्षेत्र में करियर बना

कॉमर्स (COMMERCE)…

अगर आप पढ़ने में सामान्य है, तो उस स्थिति में यह विषय आपके लिए काफी लाभदायक साबित होगा. कॉमर्स की सहायता से आप आगे जाकर चार्टर्ड एकाउंटेंसी (सीए), कंपनी सचिव (सीएस), बीकॉम इन अकाउंटिंग एंड कॉमर्स, बीबीए एलएलबी (BBA LLB), बीबीए, बीएमएस आदि विषयों में करियर बना सकते है. 10वीं के बाद आपको कॉमर्स में अकाउंट,  और व्यावसायिक अध्ययन, अर्थशास्त्र समेत हिंदी-इंग्लिश जैसे कॉमन विषय भी मिलेंगे. 

आर्ट्स (ARTS)…

आर्ट्स सभी विषयों में थ्योरिटिकल सब्जेक्ट माना जाता है. आर्ट्स में आप भूगोल, इतिहास, अर्थ शास्त्र, राजनीती शास्त्र आदि विषयों में करियर बना सकते है. इसी के साथ आप कला के क्षेत्र में जैसे कि म्यूजिक, इवेंट मैनेजमेंट, पेंटिंग, पेंटिंग और जर्नलिज्म आदि में भी करियर को गति प्रदान कर सकते है. 

गणित (MATHEMATICS)…

गणित सबसे कठिन विषय में से एक हैं. इस विषय में करियर बनाने से अधिकतर लोग कतराते हैं. लेकिन आप पढ़ने में काफी अच्छे है, तो आप गणित में करियर बना सकते हैं. गणित विषय लेकर आप आगे जाकर इस क्षेत्र के अंतर्गत इंजीनियरिंग, वैज्ञानिक, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, रोबोटिक्स, रोनॉटिकल्स आदि में करियर को नई उड़ान दे सकते हैं. 10 वीं के बाद आपको गणित विषय में गणित समेत फिजिक्स, केमिस्ट्री और हिंदी-इंग्लिश जैसे कॉमन विषय भी पढ़ने को मिलेंगे. 

जीव विज्ञान(BIOLOGY)…

विज्ञान के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए अवसरों की कमी नहीं है. इसके लिए आवश्यक है उच्च स्तर की मेहनत. बायोलॉजी के अंतर्गत फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय आते है. साथ ही हिंदी और इंग्लिश जो कि कॉमन सब्जेक्ट है, वे भी आते है. बायोलॉजी की सहायता से आप चिकित्सा के क्षेत्र में काफी अच्छा नाम कमा सकते हैं. इसके अंतर्गत आप डॉक्टर, हॉस्पिटल मैनेजमेंट, बायो केमिस्ट्री, केमिकल, डिफेन्स, रिसर्चर, वैज्ञानिक और शिक्षा के क्षेत्र में करियर बना

You May Also Like

English News