1000 करोड़ की बेनामी संपत्ति मामले में लालू से जुड़े 22 ठिकानों पर छापे, बेटी-दामाद के यहां भी रेड

इनकम टैक्स ने मंगलवार सुबह लालू प्रसाद यादव के 22 ठिकानों पर छापेमारी की है. यह छापे बेनामी संपत्ति के मामले में मारे गये हैं. बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स सुबह 8.30 बजे से छापेमारी कर रही है. इनकम टैक्स ने दिल्ली, गुड़गांव के इलाकों में छापेमारी की है, इस दौरान लगभग 1000 करोड़ की संपत्ति पर छापेमारी की गई है. इस छापेमारी में कटियार फैमिली, कोचर फैमिली और सांसद प्रेमचंद गुप्ता के बेटों के यहां इनकम टैक्स की छापेमारी की गई.  ये भी पढ़े:अभी-अभी: देर रात दहल गया पूरा देश, एक के बाद एक पांच ज़बरदस्त हुए धमाके, मची अफरा-तफरी…

नीतीश ये ना कहें कि बदले की भावना से हुई छापेमारी

सुशील मोदी ने कहा कि मैंने प्रेस कांफ्रेंस करके इस मामले को सार्वजनिक किया था, मैंने कोई दस्तावेज नहीं सौंपे थे. इसमें प्रेमचंद गुप्ता, लालू समेत आधे दर्जन नेताओं का नाम मैंने लिया था. मैंने अपील की थी, जिसके बाद यह छापेमारी की थी. सुशील मोदी ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि नीतीश कुमार ये नहीं कहेंगे कि ये छापेमारी बदले की भावना से की गई है. सुशील मोदी ने कहा कि मुझे नहीं पता है कि इनकम टैक्स किस आधार पर यह छापेमारी कर रही है.

बेटी-दामाद के ठिकानों पर छापेमारी

लालू यादव के बेनामी संपत्ति को लेकर आयकर विभाग ने जो छापेमारी की है. उसमें लालू यादव की बेटी-दामाद के ठिकानों पर छापेमारी हुई है. इसके अलावा लालू के सहयोगी पीसी गुप्ता के संबंधियों के यहां भी छापेमारी हुई है.

दिल्ली गुरूग्राम में कुल 22 ठिकानों में छापेमारी अनेक कंपनियों और अन्य लोगों के यहां भी छापेमारी लालू की बेटी ने जिस पैसे से फार्म हाऊस खरीदा वो पैसा दिल्ली के दो एंट्री ऑपरेटरों की कंपनी से आया था एसके जैन और वीके जैन नाम के एंट्री आपरेटर दोनों को ईडी गिरफ्तार कर चुका है.

जैन की कंपनियों से मिशेल पैकर्स एंड प्रिन्टर्स में पैसा आया इस कंपनी में मीसा और उनका पति निदेशक ये कंपनी लालू के अधिकारिक दिल्ली के पते पर रजिस्टर्ड थी इसके अलावा अन्य संदिग्ध कंपनियों से भी पैसा आया था. पैसों के जरिए अनेक बेनामी खरीदी गई शक के आधार पर छापे कुछ एंट्री ऑपरेटरों के यहां भी छापेमारी हुई है.

You May Also Like

English News