छेडख़ानी :60 साल के टीचर ने छात्राओं के साथ घिनौनी हरकत, पढि़ए पूरी रिपोर्ट!

लखनऊ: मडियांव के एक निजी स्कूल के बुजुर्ग शिक्षक पर तीन छात्राओं के परिजनों ने छेड़छाड़ व अश्लील हरकते करने का आरोप लगाया है। इस घटना को लेकर उन लोगों ने बुधवार को स्कूल में जमकर हंगामा किया। परिवारीजनों का आरोप है कि स्कूल प्रबन्धक से शिकायत के बाद भी आरोपी शिक्षक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। फिलहाल मडिय़ांव पुलिस ने आरोपी शिक्षक व प्रबन्धक को पकड़ लिया है।


मडिय़ांव के फातिमानगर निवासी जुबैर खान की गौरभीट में लॉयल इण्टर कालेज नाम से विद्यालय है। इस कालेज में प्रीतिनगर निवासी 58 वर्षीय राकेश कुमार शिक्षक है। इसी स्कूल में मडिय़ांव इलाके की तीन परिवार की लड़कियां कक्षा 2 व 3 में पढ़ती है।

एक पीडि़ता के परिवार वालों ने बताया कि कक्षा 2 में पढऩे वाली उनकी बेटी ने सोमवार को सुबह स्कूल जाने से मना कर दिया। मां ने जब उससे बातचीत की तो उसने शिक्षक की करतूत के बारे में बताया। बेटी के मुंह से शिक्षक की हरकत सुनकर मां सन्न रह गयी। बेटी को लेकर माता पिता स्कूल पहुंचे जहां प्रबन्धक जुबैर ने शिक्षक से शिकायत की तो प्रबंधक ने कार्रवाई का आश्वसन दिया।

इसी तरह के दो अन्य छात्राओं ने भी शिक्षक राकेश कुमार पर छेड़ख़ानी और अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया। सभी पीडि़त छात्राओं के परिवारीजन बुधवार को स्कूल पहुंचे। आरोप है कि प्रबन्धक ने आरोपी शिक्षक पर कोई कार्रवाई नहीं की थी। इस पर परिवार के लोग भड़क गये और स्कूल में हंगामा करने लगे।

पीडि़तों का यह भी आरोप है कि पहले भी छात्राओं ने शिक्षक पर अश्लीलता का आरोप लगया था लेकिन प्रबन्धक ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। हंगामे की सूचना पर मडियांव इंस्पेक्टर अमरनाथ वर्मा मौके पर पहुंचे गये और कार्रवाई का आश्वासन देते हुए हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराया। इसके बाद पुलिस ने स्कूल के प्रबंधक और टीचर को हिरासत में ले लिया और मडिय़ांव कोतवाली ले आयी।

शिक्षक के समर्थन में आये कुछ अभिभावक
छात्राओ के आरोपों पर मडियांव इंस्पेक्टर ने आरोपी शिक्षक राकेश कुमार व प्रबन्धक जावेद खान को गिरफ्तार कर लिया। इस पर कुछ अभिभावक शिक्षक के समर्थन में आ गये और उसे बेकसूर बताने लगे। जिस कारण पीडि़त छात्राओं के परिवार वालों से उनकी बहस होने लगी। मडियांव इंस्पेक्टर अमरनाथ वर्मा ने बताया कि आरोपी शिक्षक के खिलाफ छेड़छाड़ व पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा लिया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

प्रबन्धक करते है टालमटोल
एक पीडि़त छात्रा की मां ने बताया कि स्कूल के टायलेट में भी काफी अश्लील बातें लिखी हुई हैं। उनकी बड़ी बेटी भी उसी स्कूल में पढ़ती हैं। उसने जब इसकी जानकारी दी तो उन्होंने यह बात भी प्रबन्धक को बतायी थी। प्रबन्धक ने उन्हें टॉयलेट में पेंट व सफाई का आश्वासन दिया था, पर किया कुछ नहीं।

कोतवाली में रोने लगा बुजुर्ग शिक्षक
पुलिस ने जब आरोपी टीचर से उन पर लगे आरोप के बारे में पूछताछ की तो वह फूट-फूट कर रोने लगा। उसका कहना था कि वह निर्दोष है। उनकी पूरी उमर बच्चों को पढ़ाने में गुजर गयी और अब बुढ़ापे में उनके ऊपर घिनौना कलंक लग रहा है। उनका कहना था कि एक महिला टीचर से कुछ दिन पूर्व नोकझोंक हुई थी। इसी के कारण उसे साजिशन फंसाया जा रहा है। आरोपी ने बताया कि उसके भी एक बेटी है जो बीए फाइनल ईयर की छात्रा है, ऐसे में वह मासूम छात्राओं से छेडख़ानी करने की सोच भी नहीं सकते हैं।

कैमरे में नहीं मिली कोई आपत्तिजनक फुटेज
स्कूल के प्रबंधक जुबेर खान का दावा है कि उनके स्कूल के क्लासरूम में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। अभिभावकों की शिकायत पर फुटेज खंगाली गयी थी लेकिन कुछ भी गलत नहीं पाया गया। वहीं इंस्पेक्टर का कहना है कि सीसीटीवी कैमरों को दोबारा खंगाला जायेगा।

You May Also Like

English News