#JusticeForSanskritiRai: पुलिस और फारेंसिक टीम ने किया क्राइम सीन का रिकंस्ट्रक्शन!

लखनऊ: पालीटेक्निक की छात्रा संस्कृति राय की हत्या की गुत्थी अब तक पुलिस नहीं सुलझा सकी है। संस्कृति राय की हत्या के मामले में रविवार की दोपहर पुलिस व फारेंसिक टीम ने आईआईएम रोड यानि घटनास्थल पर क्राइम सीन का रिकंस्ट्रेक्शन किया। इस दौरान फारेंसिक टीम ने डमी के सहारे संस्कृति राय से जुड़े मामले की हर एंगिल पर छानबीन की।


एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार ने बताया कि संस्कृति राय की मौत से पर्दा उठाने के लिए रविवार को पुलिस व फारेंसिक की टीम दोपहर सवा एक बजे आईआईएम रोड स्थित घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस व फारेंसिक टीम उस जगह पर पहुंची, जहां संस्कृति राय मरणासन्न अवस्था में पड़ी थी। फारेंसिक और पुलिस टीम ने पहले तो पूरे इलाके के चप्पे-चप्पे को सर्च किया।

इसके बाद फारेंसिक टीम ने डमी के सहारे यह जानने की कोशिश की कि संस्कृति राय की मौत कैसे और कब हुई। करीब एक घंटे तक पुलिस और फारेंसिक की टीम ने घटना का रिकंस्ट्रक्शन किया। अब फारेंसिक की टीम जल्द ही अपनी रिपोर्ट पुलिस को सौंपेगी। वहीं अब तक इस मामले में पुलिस हत्यारों को पकडऩा तो दूर हत्या के कारण तक का पता नहीं लगा सकी है।

पुलिस ने सैकड़ों मोबाइल नम्बर को स्कैन किया और आटो चालकों से लेकर संस्कृति राय के कई दोस्तों और साथियों से पूछताछ भी की पर कहीं से कोई सुराग पुलिस को हाथ नहीं लगा। वहीं छात्रा संस्कृति राय की हत्या के विरोध में सोशल मीडिया पर #JusticeForSanskritiRai के नाम से छात्रों ने मुहिम भी चला रखी है।

सोशल मीडिया पर संस्कृति राय की हत्या को लेकर जहां एक तरफ पुलिस से लेकर सरकार पर लोग सवाल उठा रहे हैं, वहीं लोग बेगुनाह संस्कृति राय के हत्यारों को जल्द से जल्द पकडऩे की मांग भी कर रहे हैं। एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार ने बताया कि पुलिस छात्रा के इन्दिरानगर किराये के घर से लेकर घटनास्थल के बीच लगे सीसीटीवी कैमरों की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। पुलिस को जो भी फुटेज घर के आसपास के मिले हैं, उसमें संस्कृति राय अकेले हाथ में बैग लेकर जाते हुए दिखायी पड़ी है।

यह है पूरी घटना
बलिया निवासी छात्रा संस्कृति पालीटेक्निक की छात्रा थी। 22 जून को उसको अपनी सहेली पुष्पांजलि के साथ बलिया जाना था। दोनों सहेलियों को बादशाहनगर रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकडऩी थी पर छात्रा बादशाहनगर रेलवे स्टेशन नहीं पहुंची। इस पर उसकी सहेली ने जानकारी छात्रा के परिवार वालों को दी। छात्रा के मौसा आशुतोष ने गाजीपुर थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी। अगले दिन छात्रा अधमरी अवस्था में मडिय़ांव के आईआईएम रोड पर पड़ी मिली थी। पुलिस ने उसको इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया था, जहां उसकी मौत हो गयी। छात्रा के सिर पर वारकर उसकी हत्या की गयी थी।

You May Also Like

English News