135 साल बाद धनतेरस पर बना है ऐसा हस्त नक्षत्र योग

डबरा। इस वर्ष धनतेरस पर 135 वर्ष बाद हस्त नक्षत्र योग बना है। पं. हरिनारायण विश्वेश्वर दयाल बौहरे के अनुसार धनतेरस के दिन खरीदारी के लिए शाम 7 बजे से रात 9 बजे तक नक्षत्र का विशेष प्रभाव रहेगा। दूसरी ओर इलेक्ट्रॉनिक, ज्वेलरी, ऑटोमोबाइल व बर्तन सेक्टर के व्यापारियों को अच्छे कारोबार की उम्मीद है।

135 साल बाद धनतेरस पर बना है ऐसा हस्त नक्षत्र योग

ज्योतिषाचार्य हरिनारायण विश्वेश्वर दयाल बौहरे ने बताया कि आम तौर पर धनतेरस पर हस्त नक्षत्र नहीं आता है, लेकिन इस बार 135 वर्ष बाद यह शुभ नक्षत्र धनतेरस पर आया है। धनतेरस पर सोना खरीदारी को काफी शुभ बन गया है।

ये भी पढ़े:> भ्रमण करती हुईं लक्ष्मी जी आएंगी, तो क्या आपके घर में बसेंगी?

सोने में भगवान विष्णु का वास माना जाता है और जहां पर भगवान विष्णु का वास होता है तो वहां पर लक्ष्मी स्वयं आ जाती हैं। धनतेरस पर सोने के अलावा चांदी की खरीदारी को शुभ इसलिए माना जाता है कि क्योंकि चांदी को चन्द्रमा भी कहा जाता है। उन्होंने बताया कि धनतेरस के दिन सोने-चांदी की विधि-विधान से पूजा अर्चना कर घर के मुख्य द्वार पर दोनों ओर दीप जलाकर रखने से शरीर स्वस्थ बना रहता है।

बाजार में उमड़ी भीड़

धनतेरस के पूर्व भी गुरुवार को बाजार में भीड़ देखी गई। लोग धनतेरस पर सोने-चांदी के अलावा बर्तन की खरीदारी भी करते हैं। व्यापारियों के मुताबिक इस बार धनतेरस पर एक करोड़ से अधिक का कारोबार होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

पोस्टरों की हुई जमकर खरीदारी

दीपावली पर दुकानों के अलावा घरों में लगाने वाले पोस्टरों की खरीदारी के लिए सुबह से लेकर देर शाम तक लोगों की भीड़ लगी रही। ओवर ब्रिज के नीचे और सुभाषगंज मार्ग पर पोस्टरों की दुकानें लगी हैं।

You May Also Like

English News