15 दिन में फ्रॉड रोकने के उपाय करें बैंक, सरकार का अल्टीमेटम

पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ रुपये का महाघोटाला सामने आने के बाद केंद्र सरकार ने भी बैंकों को सख्त हिदायत दी है. सरकार ने सभी सरकारी बैंको से कहा है क‍ि वे 15 दिनों के भीतर ऑपरेशनल और टेक्न‍िकल खतरों से निपटने के लिए जरूरी इंतजाम करें. वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग के सचिव राजीव कुमार ने ट्वीट कर बैंको को यह निर्देश दिया है.15 दिन में फ्रॉड रोकने के उपाय करें बैंक, सरकार का अल्टीमेटम

Big Breaking: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के बेटे को सीबीआई ने किया गिरफ्तार, जानिए क्योंं?

राजीव कुमार ने अपने ट्वीट में पंजाब नेशनल बैंक का नाम तो नहीं लिया है, लेक‍िन उन्होंने सभी सरकारी बैंकों को इसके जरिये संबोध‍ित किया है. इसमें उन्होंने कहा कि सभी पीएसबी बैंकों के पास 15 दिनों का समय है. इस दौरान वह खुद में सुधार करें. इसके लिए ऑपरेशनल और टेक्न‍िकल स्तर पर पैदा हो रहे खतरों से निपटने के लिए खुद को तैयार करें.

इसके साथ ही बैंकों को चाह‍िए कि वे सुरक्षा के बेहतर इंतजामों से सीख लें. बैंक‍िंग खतरों से निपटने के लिए टेक सॉल्यूशंस को बेहतर बनाने पर ध्यान दिया जाए. राजीव कुमार ने अपने ट्वीट  में सभी बैंकों को यह भी हिदायत दी कि वह वरिष्ठ अध‍िकारियों की जिम्मेदारी भी तय करें. सरकार की तरफ से पीएसबी बैंकों को यह निर्देश पंजाब नेशनल बैंक में सामने आए घोटाले के बाद आया है. 

पंजाब नेशनल बैंक-नीरव मोदी घोटाले की गुत्थी सीबीआई और ईडी अभी सुलझा ही रही थी कि इस मामले में एक और बड़ा खुलासा मंगलवार को किया गया. नए खुलासे में पता चला है कि घोटाले की रकम 11400 करोड़ नहीं बल्कि इससे भी ज्यादा है.

पंजाब नेशनल बैंक की तरफ से खुद इस बात की जानकारी दी गई है कि इस घोटाले की रकम में अन्य 1300 करोड़ रुपए के फ्रॉड ट्रांजैक्शन का पता लगा है. यानी पहले के 11400 और अब 1300 करोड़ के खुलासे के बाद अब स्कैम की कुल रकम 12700 करोड़ रुपए हो गई है.

मनी लॉन्ड्रिंग रोधक कानून (पीएमएलए) अदालत ने सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को हजारों करोड़ों का घपला करने वाले हीरा व्यापारी नीरव मोदी की संपत्ति के बारे में जानकारी हासिल करने और सीज करने के मामले में 6 देशों को अनुरोध पत्र (एलआर) भेजने की इजाजत दे दी है. 

देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई स्थित एक शाखा में करीब 11,400 करोड़ रुपये का फर्जी ट्रांजैक्शन किया गया. पंजाब नेशनल बैंक ने 5 फरवरी को सीबीआई के सुपुर्द लगभग 280 करोड़ रुपये के फर्जी ट्रांजैक्शन का मामला सुपुर्द किया था.

इस मामले की जांच सीबीआई कर ही रही थी कि बैंक की मुंबई स्थित महज एक ब्रांच से आई फर्जीवाड़े सूचना ने बैंक को 11,360 करोड़ रुपये के अतिरिक्त नुकसान में ला दिया.

इस मामले में लगातार जांच जारी है और इसमें जांच एजेंसियों ने कई गिरफ्तारियां भी कर ली हैं. धोखाधड़ी के इस मामले के केंद्र में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि ज्वैलर्स से जुड़े मेहुल चौकसी हैं.

You May Also Like

English News