16 दिन बाद पहली बार घटी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, जानिए कितने की मिली राहत

कर्नाटक चुनाव के बाद लगातार 16 दिन तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़त के बाद बुधवार को इनकी कीमतों में पहली बार गिरावट आई है. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 60 पैसे और डीजल की कीमत में 56 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई है.कर्नाटक चुनाव के बाद लगातार 16 दिन तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़त के बाद बुधवार को इनकी कीमतों में पहली बार गिरावट आई है. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 60 पैसे और डीजल की कीमत में 56 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई है.  दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 60 पैसे घटकर 77.83 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 56 पैसे घटकर 68.75 रुपये प्रति लीटर हो गई है.  कर्नाटक चुनाव के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में जो बढ़त शुरू हुई थी, उस पर अब जाकर ब्रेक लगी है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के बाद सरकार पर तेल के दाम कम करने का दबाव था.  तेल कंपनियों ने कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 59 पैसे की कटौती करते हुए 80.47 रुपये, मुंबई में 59 पैसे घटाते हुए 85.65 रुपये और चेन्नई में 63 पैसे की कटौती करते हुए 80.80 रुपये प्रति लीटर कर दी है.  कोलकाता में डीजल की कीमत में 56 पैसे की कटौती करते हुए 71.30 रुपये प्रति लीटर, मुंबई में 59 पैसे घटाकर 73.20 रुपये प्रति लीटर और चेन्नई में 60 पैसे की कटौती करते हुए 72.58 रुपये प्रति लीटर कर दी गई है.   गत 23 मई को केंद्र सरकार ने कहा था कि वह पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत दिलाने के लिए दीर्घकालिक समाधान लाने पर काम कर रही है. सरकार ने कहा था कि हम जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेंगे.  गौरतलब है कि कर्नाटक चुनाव के दौरान 19 दिन तक पेट्रोल और डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई, लेकिन जैसे ही चुनाव खत्म हुए पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा दिए गए. तब से लगातार ईंधन की कीमत में बढ़ोतरी का दौर जारी था. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में आ रही रिकॉर्ड वृद्ध‍ि को इसकी वजह बताया गया.   इससे पहले पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) और पेट्रोल डीलर एसोसिएशन के साथ बैठक की थी. लेकिन इस बैठक से भी आम आदमी को कोई राहत नहीं मिली थी.

दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 60 पैसे घटकर 77.83 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 56 पैसे घटकर 68.75 रुपये प्रति लीटर हो गई है.

कर्नाटक चुनाव के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में जो बढ़त शुरू हुई थी, उस पर अब जाकर ब्रेक लगी है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के बाद सरकार पर तेल के दाम कम करने का दबाव था.

तेल कंपनियों ने कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 59 पैसे की कटौती करते हुए 80.47 रुपये, मुंबई में 59 पैसे घटाते हुए 85.65 रुपये और चेन्नई में 63 पैसे की कटौती करते हुए 80.80 रुपये प्रति लीटर कर दी है.

कोलकाता में डीजल की कीमत में 56 पैसे की कटौती करते हुए 71.30 रुपये प्रति लीटर, मुंबई में 59 पैसे घटाकर 73.20 रुपये प्रति लीटर और चेन्नई में 60 पैसे की कटौती करते हुए 72.58 रुपये प्रति लीटर कर दी गई है. 

गत 23 मई को केंद्र सरकार ने कहा था कि वह पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत दिलाने के लिए दीर्घकालिक समाधान लाने पर काम कर रही है. सरकार ने कहा था कि हम जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेंगे.

गौरतलब है कि कर्नाटक चुनाव के दौरान 19 दिन तक पेट्रोल और डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई, लेकिन जैसे ही चुनाव खत्म हुए पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा दिए गए. तब से लगातार ईंधन की कीमत में बढ़ोतरी का दौर जारी था. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में आ रही रिकॉर्ड वृद्ध‍ि को इसकी वजह बताया गया. 

इससे पहले पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) और पेट्रोल डीलर एसोसिएशन के साथ बैठक की थी. लेकिन इस बैठक से भी आम आदमी को कोई राहत नहीं मिली थी.

You May Also Like

English News