17 दिन बाद फिर खुला रेयान स्कूल, आज भी बच्चों के मन में बना हुआ है खौफ…

प्रद्युम्न मर्डर केस के 17 दिन बाद रेयान स्कूल सोमवार को एक बार फिर खुला. भले ही इस घटना को हुए दो हफ्ते से ज्यादा का वक्त बीत चुका है, लेकिन आज भी बच्चों के मन में खौफ बना हुआ है. हालांकि, पिछले सोमवार की तुलना में आज स्कूल में स्टूडेंट्स की तादाद ज्यादा रही. 17 दिन बाद फिर खुला रेयान स्कूल, आज भी बच्चों के मन में बना हुआ है खौफ...अभी-अभी: चार्म्स ‌इंडिया के मालिक संजय सिंघल ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

आज बच्चों को स्कूल छोड़ने आए कई पेरेंट्स ने बताया कि स्कूल जाने से बच्चे डर रहे हैं. उनके दिलो-दिमाग से प्रद्युम्न की हत्या का खौफ बना हुआ है. बच्चे वॉश रूम जाने में डरते हैं. उन्हें लगता है कि कोई उन पर हमला कर देगा.

इसके पहले स्कूल प्रशासन ने पेरेंट्स के साथ मीटिंग भी की और उन्हें स्कूल में किए गए नए सुरक्षा इंतजामों के बारे में बताया गया.  पेरेंट्स का कहना है कि प्रद्युम्न की हत्या के बाद स्कूल काफी दिनों तक बंद रहा. जिससे बच्चों की पढ़ाई का नुक़सान हुआ है. हम लोगों को भी बच्चों को स्कूल भेजने में डर लग रहा है, लेकिन बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसीलिए उन्हें समझाकर स्कूल भेज रहे हैं.

रेयान स्कूल में ये हुए नए सुरक्षा के इंतजाम –

– स्कूल की बाउंड्री को सही कर ऊपर तार बंदी कर दी गई है.

– बस चालक एंव सह चालकों का पुलिस वेरिफिकेशन कर लिया गया है.

– पूरे स्कूल परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए, खराब कैमरों को सही कर दिया गया.

– हालांकि, पेरेंट्स की मांग है कि क्लास में भी कैमरे लगाए जाएं. 

– इसके अलावा स्कूल में पंद्रह महिला कर्मचारियों की भर्ती की गई है.

– स्कूल की सुरक्षा में गार्ड लगाए गए हैं, सभी को आईकार्ड जारी किए गए हैं.

सीबीआई के हाथ में आया केस…

वहीं, मर्डर केस की जांच कर रही सीबीआई गुडगांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल रविवार को पहुंची. उनके साथ हत्या का आरोपी अशोक और माली हरपाल भी था. स्कूल में क्राइम सीन रिक्रिएट किया गया. सीबीआई की टीम यहां करीब डेढ़ घंटे तक आरोपी अशोक और माली हरपाल को लेकर स्कूल के अंदर रही. दोनों से आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की गई.

प्रद्युम्न की गला रेतकर हुई थी बेरहमी से हत्या

बताते चलें कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर के साथ कुकर्म की कोशिश के बाद उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. इस मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी अशोक कुमार ने पहले अपना जुर्म कबूल किया, लेकिन अब इससे इनकार कर रहा है.

You May Also Like

English News