1916 में आज ही के दिन हुआ था सुर साम्राज्ञी एम एस सुब्बालक्ष्मी का जन्म

भारत रत्न से सम्मानित एम. एस. सुब्बुलक्ष्मी को संगीत जगत की अप्रतिम प्रतिभा और अविवादित सुर साम्राज्ञी के तौर पर जाना जाता है. 16 सितंबर की तारीख इतिहास में संगीत की इस महान साधिका के जन्मदिन के तौर पर दर्ज है.

 

16 सितंबर 1916 को तमिलनाडु के मदुरै शहर में जन्मी सुब्बालक्ष्मी ने पांच साल की उम्र में संगीत की शिक्षा ग्रहण करना शुरू किया और दस साल की उम्र में अपना पहला डिस्क रिकॉर्ड किया. उन्होंने देश की बहुत सी भाषाओं में गीत गाए. यह उनकी कला साधना का ही प्रभाव था कि लता मंगेशकर ने उन्हें ‘तपस्विनी’ कहा, उस्ताद बडे ग़ुलाम अली ख़ां ने उन्हें ‘सुस्वरलक्ष्मी’ का नाम दिया, किशोरी आमोनकर उन्हें ‘आठ्वां सुर’ कहती थीं, जो संगीत के सात सुरों से ऊंचा है. उन्हें कला क्षेत्र में योगदान के लिए 1954 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया.

 

16 सितंबर की तारीख में इतिहास में दर्ज देश विदेश की प्रमुख घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:-

 

1630 : मैसाच्युसेट्स के गांव शॉमट का नाम बदलकर बोस्टन किया गया, जो अब अमेरिका का प्रमुख शहर है.
1821 : मैक्सिको की स्वतंत्रता को मान्यता मिली.
1848 : फ्रांस ने अपने सभी उपनिवेशों में दास प्रथा को समाप्त किया.
1906 : नार्वे के रोएल्ड एमंडसन ने चुंबकीय दक्षिणी ध्रुव की खोज की.
1916 : भारत रत्न शास्त्रीय गायिका और अभिनेत्री एम.एस. सुब्बालक्ष्मी का जन्म. सुब्बालक्ष्मी ने पांच साल की उम्र में संगीत की शिक्षा ग्रहण करना शुरू किया और दस साल की उम्र में अपना पहला डिस्क रिकॉर्ड किया.
1967 : सोवियत संघ ने पूर्वी कजाख में परमाणु परीक्षण किया.
1986 : दक्षिण अफ़्रीका की एक सोने की खदान में फँस जाने से 177 लोग मारे गए.
2007 : वन टू गो एयरलांइस का विमान थाईलैंड में दुर्घटनाग्रस्त होने से 89 लोगों की मौत हुई.
2009 : दुनिया भर में भारत को एक उत्कृष्ट पर्यटन स्थल के रूप में पेश करने वाले अतुल्य भारत अभियान को ब्रिटिश पुरस्कार मिला.

You May Also Like

English News