अब शिवपाल यादव ने किया नई पार्टी बनाने की घोषणा, सपा से टूटे गया सालों पुराना रिश्ता

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के नेता व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव ने 11 मार्च के बाद अपनी नई पार्टी बनाने की घोषणा की है। शिवापाल के इस घोषणा के बाद यह तय हो गया कि अब वह ज्यादा समय समाजवादी पार्टी के साथ नहीं होगें।
सपा नेता शिवपाल यादव ने मंगलवार को समाजवादी पार्टी से यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के लिये नामांकन करने के बाद अपने बागी तेवर नुमाइश पंडाल में आयोजित नामांकन जनसभा में दिखा दिए। उन्होंने कार्यकर्ताओं के जोश के बीच एलान किया कि वे 11 मार्च के बाद नई पार्टी का गठन करेंगे। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि उनके साथ भितरघात किया गया है और मुलायम सिंह यादव सहित उनके लोगों को लगातार अपमानित किया जा रहा है।

पूरे भाषण के दौरान उन्होंने नाम न लेते हुए अखिलेश यादव व रामगोपाल यादव पर निशाना साधा। उन्होंने बगैर नाम लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर तंज कसा कि सपा का चुनाव चिन्ह उनकी कृपा से मिला है। हालांकि वे निर्दलीय लडऩे को भी तैयार थे। 15 दिन पूर्व चुनाव लडऩे का मेरा मन नहीं था। परंतु जनता की ताकत मिलने पर मैं मैदान में आ गया हूं। कांग्रेस को उत्तर प्रदेश में 105 सीटें दे दी गईं जबकि कांग्रेस की हैसियत केवल चार सीटों की थी।

हमारे जिताऊ उम्मीदवारों की सीटें काटकर कांग्रेस की झोली में डाल दीं। उन्होंने कहा कि मरते दम तक मुलायम सिंह यादव के साथ रहूंगा और हमारे जो उम्मीदवार उनके आशीर्वाद से दूसरे दलों से चुनाव लड़ रहे हैं उनका प्रचार करूंगा।

You May Also Like

English News