21 साल बाद टाइटैनिक के एक्टर ने बताया, जैक को हर कीमत पर मरना था

फिल्म ‘टाइटैनिक’ में काल हॉकले का किरदार निभाने वाले अभिनेता बिली जेन का कहना है कि फिल्म में लियोनार्डो के किरदार जैक को हर कीमत पर मरना ही था. निर्देशक जेम्स कैमरून की 1997 की फिल्म ‘टाइटैनिक’ के कई बरसों बाद भी इस बात पर बहस होती है कि आखिर क्यों जैक को बर्फीले पानी में मरना पड़ा जबकि रोज (केट विंसलेट) पानी में लकड़ी के एक फट्टे पर सुरक्षित बच निकली.  21 साल बाद टाइटैनिक के एक्टर ने बताया, जैक को हर कीमत पर मरना था

जेन ने ‘पीपुल डॉट कॉम’ को बताया, “आपके हीरो को मरना पड़ा. मुझे नहीं पता कि इसके अलावा और क्या हो सकता था.” वह कहते हैं कि  जैक का किरदार ही ऐसे गढ़ा गया था कि उसे मरना ही था.

इस फिल्म के क्लाइमैक्स के बारे में वेनिटी फेयर को दिए इंटरव्यू में फिल्म के डायरेक्टर जेम्स कैमरन ने कहा था कि जैक को मरना ही था. यह फिल्म मरने और अलग होने के बारे में थी. अगर जैक जिंदा रहता तो फिल्म का अंत अर्थहीन हो जाता.’ 

बता दें सुपरहिट फिल्म टाइटैनिक को पिछले साल एक बार सिनेमाघरों 2डी और 3डी में अमेरिका में रिलीज किया गया था. 1997 में रिलीज हुई इस फिल्म को दुनियाभर में सराहा गया था. 1912 में के दुःखद हादसे की बैकग्राउंड पर बनी फिल्म ‘टाइटैनिक’ में ‘जैक-रोज’ की जोड़ी के रूप में काम करने के बाद लियोनार्डो डि कैप्रियो और केट रातों रात सुपरस्टार बन गए थे. आज भी सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले स्क्रीन कपल के रूप में उनकी चर्चा होती है.

You May Also Like

English News